अब मैं कोई चुनाव नहीं लड़ूंगी, मगर पार्टी के लिए काम करती रहूंगी-उमा भारती

0

केंद्रीय मंत्री और झांसी से सांसद साध्वी उमा भारती ने चुनाव न लड़ने का निर्णय किया है। सांसद ने अपनी उम्र और स्वास्थ्य का हवाला देते हुए कहा कि अब मैं कोई चुनाव नहीं लड़ूंगी, मगर पार्टी के लिए काम करती रहूंगी।

उन्होंने कहा कि वह 2 बार सांसद रही हैं और पार्टी के लिए काफी काम किया है, उसी के चलते इतनी कम उम्र में उनका शरीर जवाब देने लगा है। कमर और घुटनों में दर्द के चलते चलने-फिरने में परेशानी होती है। उन्होंने कहा कि मध्यप्रदेश के विधानसभा चुनावों में केवल प्रचारक की भूमिका में रहूंगी। ना ही मुझे अब कहीं का सीएम बनना है और मैं ऐसी किसी दौड़ में शामिल भी नहीं हूं।

कौन हैं उमा भारती
उमा भारती भारतीय राजनेत्री है और भारत की जल संसाधन, नदी विकास और गंगा सफाई मंत्री है। वे मध्यप्रदेश की मुख्यमंत्री रह चुकी हैं। उन्हें ग्वालियर की महारानी विजयराजे सिंधिया ने उभारा। साध्वी ऋतम्भरा के साथ उन्होंने रामजन्मभूमि आन्दोलन में प्रमुख भूमिका निभाई। इस दौरान उनका नारा था “श्री रामलला घर आएंगे मंदिर वहीं बनाएंगे”।

वह युवावस्था में ही भारतीय जनता पार्टी से जुड़ गई थी। उन्होंने 1984 में सर्वप्रथम लोकसभा चुनाव लड़ा, परन्तु हार गई। 1989 के लोकसभा चुनाव में वह खजुराहो संसदीय क्षेत्र से सांसद चुनी गई और 1991, 1996, 1998 में यह सीट बरकरार रखी। 1999 में वह भोपाल सीट से सांसद चुनी गई। वाजपेयी सरकार में उन्होंने मानव संसाधन विकास, पर्यटन, युवा मामले एवं खेल और अंत में कोयला और खदान जैसे विभिन्न राज्य स्तरीय और कैबिनेट स्तर के विभागों में कार्य किया।