एनडीए-यूपीए के बीच फुटबॉल गया और इस मैच में कोई रेफरी नहीं है: माल्या

0
37

ऋण नहीं चुकाने के मामले में फंसे किंगफिशर एयरलाइंस के पूर्व प्रमुख विजय माल्या ने शुक्रवार को कहा कि संयुक्त प्रगतिशील गठबंध (संप्रग) की पूर्ववर्ती सरकार और राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (राजग) की मौजूदा सरकार उनके साथ फुटबाल की तरह बर्ताव करती रही है और वह भी बिना किसी ‘रेफरी’ के।

माल्या ने ट्वीट कर कहा कि मीडिया को पिच की तरह इस्तेमाल किया जाता रहा है। मैं फुटबाल बन गया हूं। दो प्रतिस्पर्धी टीमें- संप्रग व राजग खेलती रही हैं। दुर्भाग्यवश कोई रेफरी नहीं है। उन्होंने ट्वीट कर कहा कि मैं सीबीआई के आरोपों से हैरान हूं। मुट्ठीभर पुलिसकर्मी कारोबार और अर्थव्यवस्था के बारे में क्या जानते हैं?

माल्या ने पूर्व दूरसंचार मंत्री दयानिधि मारन के एयरसेल-मैक्सिस सौदे में भ्रष्टाचार के आरोपों से मुक्त होने का जिक्र करते हुए भी सीबीआई पर निशाना साधा। उन्होंने कहा कि सीबीआई ने मारन बंधुओं पर आरोप लगाकर इतना बखेड़ा खड़ा किया। आखिर में क्या हुआ? अंत में सच्चाई की जीत हुई या सीबीआई की?

एयरसेल-मैक्सिस सौदे में मारन और अन्य आरोपियों को विशेष अदालत द्वारा सभी आरोपों से मुक्त किए जाने के एक दिन बाद माल्या का यह बयान सामने आया है। माल्या (61) ने ट्वीट कर कहा, कि सीबीआई कुछ चुनिंदा ईमेल मीडिया में जारी कर रही है और मेरे व संप्रग सरकार के खिलाफ आरोप लगाए जा रहे हैं। माल्या दो मार्च, 2016 को देश से फरार हो गए थे और फिलहाल ब्रिटेन में रह रहे हैं।