ओंकारेश्वर के अभय घाट पर मुख्यमंत्री श्री चौहान ने की माँ नर्मदा की आरती

0
18

ओंकारेश्वर के अभय घाट पर शाम को मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने सपत्निक माँ नर्मदा की आरती की। इस दौरान स्वामी अवधेशानंद गिरि, ऊर्जा मंत्री एवं खण्डवा जिले के प्रभारी मंत्री श्री पारस जैन, वन मंत्री श्री गौरीशंकर शेजवार, सांसद श्री नंदकुमार सिंह चौहान, राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ के सह कार्यवाह श्री सुरेश सोनी सहित, सुश्री प्रज्ञाभारती, विधायक श्री लोकेन्द्र सिंह तोमर, यात्रा प्रभारी डॉ. जितेन्द्र जामदार, प्रमुख सचिव संस्कृति श्री मनोज श्रीवास्तव, संस्कृति आयुक्त श्री राजेश मिश्रा, सहित अन्य अधिकारी और जनप्रतिनिधि तथा बड़ी संख्या में श्रद्धालु मौजूद थे।

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने उपस्थित श्रद्धालुओं को नर्मदा एवं अन्य नदियों के संरक्षण, नशामुक्ति, बेटी बचाओ, तथा पर्यावरण संरक्षण का संकल्प दिलाया। इससे पूर्व मुख्यमंत्री श्री चौहान ने माँ नर्मदा का विधिवत अभिषेक व पूजन किया तथा नर्मदाष्टक का गायन किया तथा माँ नर्मदा की आरती की। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने ओंकारेश्वर नगर को अत्यन्त पवित्र तीर्थ नगरी बताया जहाँ ब्रम्ह्पुरी, शिवपुरी व विष्णुपुरी तीनों विद्यमान है।

स्वामी अवधेशानंद गिरि ने इस अवसर पर उपस्थित श्रद्धालुओं को संबोधित करते हुये कहा कि उन्होंने बचपन से ही नदियों के किनारे अनेक स्थानों पर तपस्या की है तथा अनेक धार्मिक नगरियाँ देखी है लेकिन आज नर्मदा तट पर जितना अदभुत दृश्य आरती के दौरान देखने को मिला उतना आज तक नहीं देखा। उन्होंने कहा कि पुराणों में नर्मदा दर्शन का विशेष महत्व है। स्वामी अवधेशानंद जी गिरी ने कहा कि मध्यप्रदेश भारत के हृदय भाग में स्थित है अतः इस प्रदेश में नदी संरक्षण, नशा मुक्ति तथा पर्यावरण संरक्षण के उद्देश्य को लेकर संचालित नर्मदा सेवा यात्रा का अच्छा प्रभाव पूरे देश पर पड़ेगा।