करें मां लक्ष्मी की पूजा, घर में होगी पैसों की बरसात

0
152

माघी पूर्णिमा को 10 फरवरी शुक्रवार को है। ज्योतिषियों की मानें तो इस पूजा करनें से मां लक्ष्मी की कृपा मिलती है। पद्म पुराण के अनुसार पूर्णिमा तिथि को ब्रह्म मुहूर्त में स्नान करने से पूरे साल के पुण्य का लाभ मिलता है।

कहा जाता है कि इस दिन वस्त्रों, अन्न और तील, गुड़, मुंगफली और इससे बने नैवेद्य का दान किया जाता है। इस दिन आंशिक चंद्र ग्रहण भी लग रहा है लेकिन इसका प्रभाव विश्व में कहीं भी नहीं पड़ेगा। ज्योतिषी पं. विमल जैन ने बताया कि इस वर्ष पूर्णिमा के दिन आंशिक चंद्र ग्रहण पड़ रहा है लेकिन इसका असर भारत सहित विश्व में नहीं पड़ेगा।

पूर्णिमा तिथि 10 की सुबह 6.51 लगेगी जो अगले दिन सुबह 5.50 तक रहेगी। सौभाग्य योग नौ फरवरी की देर रात 2.49 बजे से दस फरवरी की मध्यरात्रि 12.33 बजे तक रहेगा। ऐसे में सौभाग्य योग में स्नान और दान कई गुणा फल प्रदाता है। इस दिन सुबह 7.15 तक पुष्य नक्षत्र और इसके बाद आश्लेषा नक्षत्र लग रहा है। कहा जाता है कि इस दिन मां लक्ष्मी की पूजा से सुख-समृद्धि की प्राप्ति होती है।

माघ मास की पूर्णिमा को मां लक्ष्मी को प्रसन्न करने के लिए बह्म मुहूर्त में स्नान करके भगवान विष्णु की पूजा करनी चाहिए।
इस दिन शाम को मां लक्ष्मी की पूजा करें और शाम को खीर बनाकर मां लक्ष्मी को भोग लगाएं।
कहा जाता है कि इस दिन रात को घर के मुख्य दरवाजे पर दीपक जलाना चाहिए। कहा जाता है कि इससे मां लक्ष्मी प्रसन्न होकर घऱ में आगमन कती हैं।
इसके अलावा इस दिन पीपल के पेड़ की पूजा करनी चाहिए। पीपल के पेड़ पर दीपक जलाकर मिष्ठानों का भोग लगाना चाहिए और जल चढ़ाना चाहिए।