गरीब के इलाज में पैसे की कमी आड़े नहीं आयेगी – स्वास्थ्य मंत्री श्री सिंह

0

मुरैना  – ईपत्रकार.कॉम |लोक स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री श्री रूस्तम सिंह ने कहा कि गरीब व जरूरत मंद को गंभीर बीमारी के इलाज कराने में पैसे की कमी आडे नहीं आने दी जायेगी। अब प्रदेश सरकार ने गंभीर बीमारी जैसे कैंसर, हृदय रोग, हड्डी रोग, कटे होंठ एवं तालू, कान एवं नेत्र, दंत आदि के इलाज की सुविधा राष्ट्रीय बाल स्वास्थ्य कार्यक्रम और राज्य बीमारी सहायता के तहत दी जा रही है। यह बात उन्होने जिला अस्पताल परिसर में मुख्यमंत्री स्वास्थ्य सेवा शिविर के शुभारंभ अवसर पर कही। इस अवसर पर जौरा विधायक श्री सूबेदार सिंह रजौधा, महापोर श्री अशोक अर्गल, कलेक्टर श्री भास्कर लाक्षाकार, समाज सेवी श्री सरनाम सिंह, श्री प्रेमकांत शर्मा, डॉ. ओ पी शुक्ला, श्री रामकुमार माहेश्वरी, सीएमएचओ डॉ. प्रदीप मिश्रा, सिविल सर्जन डॉ. ए के सक्सैना सहित गणमान्य नागरिक एवं विभिन्न रोगों से पीडित मरीजों के परिजन मौजूद थे।

स्वास्थ्य मंत्री श्री रूस्तम सिंह ने कहा कि शिविर में ह्यदय रोग से संबंधित चिरायु हॉस्पीटल भोपाल से डॉ. निखिल पेडसेट, सिधांता रेडकॉस हॉस्पीटल भोपाल से डॉ. गिरीश राजपाल, नारायण हॉस्पीटल जयपुर से डॉ. अंशु पहाडिया, कैंसर रोग के लिए चिरायु हॉस्पीटल के डॉ. सुधीर, हड्डी रोड के लिए चिरायु हॉस्पीटल के डॉ. मनीष, न्यूरोलॉजी के लिए आरटीमिश हॉस्पीटल दिल्ली से डॉ. संदीप श्रीवास्तव, नेत्र रोग से संबंधित रतन ज्योति हॉस्पील ग्वालियर के डॉ. प्रियबंदा भसीन और दंत रोग के लिए चिरायु हॉस्पील भोपाल के चिकित्सकों द्वारा मरीजों का परीक्षण किया। जिसके वाद उन्हे ऑपरेशन के लिए तिथियां निर्धारित की गई है। स्वास्थ्य मंत्री ने मौके पर ग्राम नई बस्ती रिठौनियां कैलारस के प्रिन्स शिवहरे पुत्र हरी सिंह और सिद्दनगर कॉलोनी मुरैना की कु. नित्यांशी शर्मा पुत्री अरविन्द्र में से प्रत्येक को 5 लाख 20 हजार रूपये स्वीकृति का अदेश मुख्यमंत्री बाल श्रवण उपचार योजना एवं राष्ट्रीय बाल स्वास्थ्य कार्यक्रम के अन्तर्गत इलाज हेतु अग्रवाल हॉस्पीटल ग्वालियर के नाम प्रदान किया।

शिविर के उपरान्त जानकारी में बताया कि राष्ट्रीय बाल स्वास्थ्य कार्यक्रम और राज्य बीमारी सहायता के तहत 659 मरीजों का परीक्षण किया। जिसमें राष्ट्रीय बाल स्वास्थ्य कार्यक्रम के तहत बाल ह्यदय उपचार योजना में 41, बाल श्रवण योजना में 12, कान की मशीन के 12, जन्मजात मोतियां बिन्द के 4, कान के पर्दे बदलना 2, न्यूरोल ड्यूट डिफैक्ट 4, अन्य 118 और राज्य बीमारी सहायता के तहत कैंसर के 7, हृदय के 7, कूल्हे की हड्डी बदलना 1, घुटना बदलना 1 अन्य के 26 के मरीजों का परीक्षण किया है।

जौरा विधायक श्री सूबेदारसिंह रजौधा, माहपोर श्री अशोक अर्गल एवं डॉ. ओ पी शुक्ला ने भी विचार व्यक्त किये। कार्यक्रम के उपरान्त आभार प्रदर्शन सीएस डॉ. सक्सैना ने किया।