जाने क्यों लड़कों के लिए बैस्ट फ्रैंड होते हैं ज्यादा जरूरी

0

हर किसी का कोई न कोई बैस्ट फ्रैंड होता ही है। कुछ बातें ऐसी है, जिन्हें हम सिर्फ अपने दोस्तों के साथ ही शेयर करते है। यहां तक की अपनी खुशी और गम दोनों को उनके सामने खुलकर जाहिर कर देते है। जिंदगी में कई बार ऐसी समस्या आ जाती है, जिसमें गर्लफ्रैंड और बैस्ट फ्रैंड दोनों में किसी एक को चुनना होता है। कुछ लड़के होते हैं, जो अपने दोस्तों को चुनते है। अगर आप इसका कारण जानना चाहते है तो आज हम आपको बताएंगे कि लड़कों को गर्लफ्रैंड से ज्यादा प्यारे दोस्त क्यों होते हैं।

1. इंप्रेस करने का कोई झंझट नहीं
रिलेशन नया हो या पुराना, गर्लफ्रैंड को इम्प्रेस करने के लिए हर बार नया बहाना ढूंढना पड़ता है लेकिन दोस्तों के साथ ऐसा कुछ नहीं होता। दोस्त हमसे कोई खास मुम्मीद ही नहीं लगाते। दोस्ती एक ऐसा रिश्ता है, जिसमें कोई नाराजगी की जगह नहीं होती।

2. ज्यादा वक्त नहीं मांगते दोस्त
दोस्तों के साथ हम जितना वक्त बिताना चाहे बिता लेते है, वह कभी कोई शिकायत नहीं करते कि याद तूं हमे बुलाता ही नहीं है। वहीं अगर गर्लफ्रैंड को एक दिन भी टाइम न दे पाए तो सो बातें सुननी पड़ती है।

3. अहम फैसले लेने में मदद 
जिंदगी में कई ऐसे मोड़ आते हैं, जहां हमें अहम फैसला लेना पड़ता। ऐसे में किसी की सलाह लेनी पड़ती तो वह दोस्त ही होते है, जिनसे हम अपनी जिंदगी से जुड़े अहम किस्सों को सांझा कर लेते है और वह कई बार पूरा साथ भी देते है।

4. हर माहौल में रहते हैं फिट
गर्लफ्रैंड के साथ घूमने जाना हो तो पहले सो बातें सोचनी पड़ती लेकिन दोस्तों के साथ जाना हो तो किसी बात की कोई टेंशन नहीं होती क्योंकि दोस्त जिम्मेदारी नहीं बल्कि साथ बनकर जाते है।

5. मिलने से पहले लुक देखना
अगर गर्लफ्रैंड मिलने बुलाए तो सबसे पहले अपने लुक पर ध्यान देना पड़ता। कहीं गर्लफ्रैंड बेसती न कर दें। वहीं कहीं दोस्त बुलाए तो हम ऐसे ही मुंह उठाकर निकल पड़ते है क्योंकि वो कौन-सा लुक पर ध्य़ान देते है।

6. कोई कमिटमेंट नहीं
दोस्ती में कमिटमेंट जैसा कोई शब्द ही नहीं होता। जबकि गर्लफ्रैंड के साथ इस टॉपिक पर हमेशा डिसकशन हो जाता है।