जिले में माड्यूल को पॉयलट प्रोजेक्ट का क्रियान्वयन शुरू

0

विदिशा – ईपत्रकार.कॉम |वित्त विभाग के द्वारा पायलेट प्रोजेक्ट के रूप में संचालित आईएफएमआईएस के मॉड्यूल से भुगतान प्रक्रिया से अवगत कराने हेतु समस्त आहरण संवितरण अधिकारियों के लिए एक दिवसीय कार्यशाला आज कलेक्ट्रेट के सभाकक्ष में आयोजित की गई थी।

कोष एवं लेखा संचालनालय के अपर संचालक श्री जेके शर्मा ने आहरण संवितरण अधिकारियों को नवीन साफ्टवेयर की बिन्दुवार जानकारी देते हुए उन्होंने बताया कि अब अधिकारी, कर्मचारियों की लेखा संबंधी तमाम जानकारियां ऑन लाइन दर्ज की जाएगी। इसके लिए प्रत्येक कर्मचारी को कोड नम्बर दिया जाएगा। जिसके द्वारा दर्ज की गई जानकारी को संबंधित विभाग के आहरण संवितरण अधिकारी टेली कर कोषालय को प्रेषित करेंगे। उक्त प्रक्रिया ऑन लाइन कोषालय में परलिक्षित होगी। उन्होंने बताया कि विदिशा जिले को पायलेट प्रोजेक्ट के रूप में चिन्हांकन करने के उपरांत आज से उक्त नवीन प्रक्रिया का क्रियान्वयन शुरू हो रहा है। कार्यालयों के लेखापाल और कम्प्यूटर में दक्ष कर्मचारियों के लिए प्रशिक्षण मुहैया कराया जा रहा है श्री शर्मा ने डीडीओ से आग्रह किया कि वे स्वंय भी उक्त प्रशिक्षण में शामिल होकर नवीन प्रक्रिया से बखूबी अवगत हो।

जिला कोषालय अधिकारी श्री एके परिहार ने बताया कि वित्त विभाग के आईएफएमआईएस परियोजना अंतर्गत माड्यूल को पॉयलट प्रोजेक्ट एक जनवरी 2018 से विदिशा जिले में प्रारंभ हो गया है। नवीन व्यवस्था के अंतर्गत अब अलग-अलग ऑन लाइन दर्ज होने वाले बिलों की जानकारी त्वरित ऑन लाइन प्रदर्शित होगी। उन्होंने कहा कि विभागों के लेखापाल और अन्य को नवीन प्रक्रिया से अवगत हो सके इसके लिए उन्हें बकायदा प्रशिक्षित किया जा रहा है और उनकी शंकाओं का समाधान मौके पर किया जा रहा है।

कलेक्ट्रेट के सभाकक्ष में हुई उक्त कार्यशाला में अपर कलेक्टर श्री एचपी वर्मा, संयुक्त कलेक्टर श्री आरडीएस अग्निवंशी, डिप्टी कलेक्टर श्री एके मांझी के अलावा विभिन्न विभागों के आहरण संवितरण अधिकारी तथा कोष एवं लेखा संचालनालय के अधिकारी मौजूद थे। इस दौरान अधिकारियों की जिज्ञासाओं का समाधान अपर संचालक के द्वारा किया गया।

जिला कोषालय अधिकारी श्री परिहार ने बताया कि प्रत्येक कार्यालय के दो कर्मचारी जो लेखांकन कार्य करते है एवं कम्प्यूटर कार्य में दक्ष है उन्हें प्रशिक्षित करने के लिए प्रशिक्षण का आयोजन नवीन कलेक्ट्रेट कम्पोजिट बिल्डिंग के ई-दक्ष केन्द्र में तिथि एवं समयवार आयोजित किया जा रहा है जिसमें शामिल होने का आग्रह उन्होंने किया है।