पद्मावती फिल्म बैन होनी चाहिए,अगर फिल्म रिलीज हुई तो पूरा देश जलेगा -करनी सेना

0

मुंबईः फिल्मकार संजय लीला भंसाली के निर्देशन में बनी आगामी फिल्म ‘पद्मावत’ लंबे वक्त तक विवादों में रहने के बाद अब आखिरकार इसकी रिलीज डेट सामने आ चुकी है। हालांकि श्री राष्ट्रीय राजपूत करणी सेना ने फिल्म को यू/ए प्रमाण-पत्र के साथ रिलीज की अनुमति देने के लिए केंद्रीय सूचना एवं प्रसारण मंत्री स्मृति ईरानी और सेंसर बोर्ड प्रमुख प्रसून जोशी की शुक्रवार को निंदा की और साथ ही फिल्म पर प्रतिबंध लगाने की मांग की। करणी सेना के अध्यक्ष सुखदेव सिंह गोगामेड़ी ने मीडिया से यहां कहा, “मैं केंद्र सरकार से यह पूछना चाहता हूं कि इस फिल्म का समर्थन करके क्या लाभ मिलेगा? जिन सभी हिंदू पार्टियों से हमने हिंदुत्व के बारे में जाना है, वे सभी इस फिल्म पर शांत हैं।”

राष्ट्रीय राजपूत करणी सेना ने कहा है कि वो ‘पद्मावती’ फिल्म का विरोध करते रहेंगे और साथ ही सीबीएफसी चीफ प्रसून जोशी, सूचना एवं प्रसारण मंत्री स्मृति ईरानी और खेल मंत्री राजवर्धन सिंह राठौर के इत्सीफे की मांग भी जारी रखेंगे। राष्ट्रीय राजपूत करणी सेना के नेता सुखदेव सिंह गोगामेड़ी ने कहा कि पद्मावती के खिलाफ पूरे देश में विरोध प्रदर्शन किया जाएगा और सेंट्रसल बोर्ड ऑफ फिल्म सर्टिफिकेशन (CBFC) प्रमुख प्रसून जोशी के पुतले फूंके जाएंगे।

उन्होंने आगे कहा कि राजवर्धन सिंह राठौर को भी फिल्म के विरोध में जारी प्रदर्शन में हिस्सा लेना चाहिए, क्योंकि वो उस धरती से जुड़े हैं, जहां से रानी पद्मावती ताल्लुक रखती हैं। इसके अलावा राष्ट्रीय राजपूत करणी सेना की ओर से कहा गया है कि पद्मावती फिल्म बैन होनी चाहिए। अगर फिल्म रिलीज हुई तो पूरा देश जलेगा। सिर्फ फिल्म का नाम बदलने से कोई फायदा नहीं होगा। उन्होंने कहा कि वह 19 राज्यों में प्रदर्शन करेंगे। रणवीर सिंह-दीपिका पादुकोण अभिनीत फिल्म पद्मावती की रिलीज पर राजस्थान, गुजरात, हरियाणा और कुछ अन्य राज्यों ने पहले ही प्रतिबंध लगा रखा है।