रूठी जो जिदंगी तो मना लेंगे हम

0

रूठी जो जिदंगी तो मना लेंगे हम,

मिले जो गम वो भी सह लेंगे हम,

बस आप रहना हमेशा साथ हमारे तो,

निकलते हुए आंसुओं में भी मुस्कुरा लेंगे हम।