शशि कपूर को पाकिस्तान में भी दी गई श्रद्धांजलि, निकाली गई कैंडल मार्च

0

बॉलीवुड के दिग्गज अभिनेता शशि कपूर को देश से लेकर विदेशों तक में श्रद्धांजलि दी जा रही है। मंगलवार को जहां मुंबई के सांताक्रूज में उन्हें अंतिम विदाई दी गई, वहीं पाकिस्तान में भी उन्हें श्रद्धांजलि देकर याद किया गया। पाकिस्तान के पेशावर में उनके पैतृक घर के बाहर कैंडल मार्च आयोजित कर उन्हें याद किया गया। शशि कपूर के चाहने वाले सिर्फ भारत में ही नहीं बल्कि पाकिस्तान में भी हैं।

दरअसल, शशि कपूर के दादा पाकिस्तान के पेशावर के रहने वाले थे और शशि कपूर का परिवार पेशावर से ही पलायन करके भारत आया था। पाकिस्तान के पेशावर के ओल्ड सिटी में किस्सा खवानी बाजार में स्थित घर शशि कपूर के 1918 में बनवाया था, जो कि कपूर परिवार का पुराना मकान है। और इसी मकान के बाहर शशि कपूर की याद में कैंडल मार्च किया गया।

बता दें कि सोमवार की शाम शशि कपूर का निधन हो गया था और मंगलवाल 5 दिसबंर को उन्हें 12 बजे सांताक्रूज श्मशान घाट ले जाया गया। जहां राजकीय सम्मान के साथ उनका अंतिम संस्कार किया गया। मुंबई में भारी बारिश होने के बावजूद फिल्म जगत की कई बड़ी हस्तियां और राजनेता उनके अंतिम दर्शन को पहुंचे। वहीं गुरुवार 7 दिसंबर को शशि कपूर के थिएटर में शाम को 5-7 बजे तक शोक सभा रखी जाएगी।

गौरतलब है कि शशि कपूर लंबे समय से बीमार चल रहे थे। परिवार में दो बेटे और एक बेटी है। पत्नी जेनिफर का पहले ही निधन हो चुका है, जिनके जाने के बाद शशि कपूर काफी टूट गए थे और अपने हेल्थ पर भी ध्यान देना बंद कर दिया था। शशि के बेटे कुणाल पृथ्वी थिएटर का काम संभालते हैं जबकि दूसरे बेटे करण मशहूर फोटोग्राफर हैं। वहीं शशि की बेटी संजना थिएटर सिखाने का काम करती है।