सीएम हेल्पलाइन के प्रकरण एक सप्ताह में निराकृत करें-कलेक्टर

0

भिण्ड – ईपत्रकार.कॉम |कलेक्टर डॉ. इलैया राजा टी ने कहा है कि केन्द्र एवं राज्य सरकार द्वारा आम लोगों की भलाई की दिशा में अनेक जनहितेषी योजनाऐं संचालित की है। जिनका लाभ विभिन्न विभागों के माध्यम से समय सीमा में दिया जावे। साथ ही सीएम हेल्पलाइन के प्रकरण एक सप्ताह में निराकृत किए जावे। इन प्रकरणों के निराकरण में संबंधित व्यक्ति की संतुष्टि अवश्य होनी चाहिए। वे आज जिला पंचायत भिण्ड के सभागार में आयोजित टीएल बैठक में सीएम हेल्पलाइन के प्रकरणों की समीक्षा के दौरान विभागीय अधिकारियों को दिशा निर्देश दे रहे थे।

बैठक में अपर कलेक्टर श्री टीएन सिंह, एसडीएम भिण्ड श्री संतोष तिवारी, लहार श्री एमके शर्मा, गोहद डॉ. यूनुस खांन, महाप्रबंधक विद्युत कंपनी श्री राजीव गुप्ता, सीएमएचओ डॉ. जेपीएस कुशवाह, कार्यक्रम अधिकारी महिला बाल विकास श्री रामनिवास बुधौलिया, जिला सशक्तिकरण अधिकारी श्री एमएस अम्ब, जिला पेंशन एवं कोषालय अधिकारी श्री जीके बाथम, डीपीसी श्री संजीव शर्मा, बीईओ श्री एसएन तिवारी एवं विभिन्न विभागों के अन्य कार्यालय प्रमुख, सीईओ जनपद एवं नगरीय निकायों के मुख्य नगर पालिका अधिकारी उपस्थित थे।

कलेक्टर डॉ. इलैया राजा टी ने कहा कि राजस्व विभाग के अन्तर्गत सीएम हेल्पलाइन में दर्ज लेवल एक से लेकर चार तक के प्रकरणों का निराकरण राजस्व अधिकारी अभियान के रूप में करें। निराकृत किए जाने वाले प्रकरणों में प्रकरण से संबंधित व्यक्ति की संतुष्टि आवश्यक है। एसडीएम, तहसीलदार, नायब तहसीलदार एक सप्ताह में प्रकरण निराकृत कर जीरो की स्थिति लाने के प्रयास करें। उन्होंने कहा कि उच्च शिक्षा विभाग के अन्तर्गत सीएम हेल्पलाइन में दर्ज 11, परिवहन के 3, जिला पंचायत के 95, शिक्षा के 53, महिला बाल विकास विभाग के 33, नगरीय निकाय के 23, पीएचई के 18, योजना सांख्यकी के 7, पिछडा वर्ग अल्पसंख्यक के 6, सूक्ष्यम उद्यम के 4 के प्रकरण सर्वोच्च बरीयता पर एक सप्ताह में निराकृत किए जावे। कलेक्टर ने कहा कि प्रकरण निराकृत करने की दिशा में विभागीय अधिकारी नियमित रूप से मानीटरिंग करें। साथ ही निराकरण की प्रगति बढावे। उन्होंने कहा कि सीएम हेल्पलाइन में 300 दिन के ऊपर के शत प्रतिशत प्रकरण की नियमित समीक्षा की जाकर सात दिवस में उनका निराकरण किया जावे।

ग्राम पंचायतो में कैम्पो का आयोजन 4 जनवरी को

   कलेक्टर डॉ. इलैया राजा टी ने टीएल बैठक में विभागीय अधिकारियों से चर्चा करते हुए कहा कि जिले की 443 ग्राम पंचायतो में कैम्पो का आयोजन 4 जनवरी 2018 गुरूवार को किया जावे। इसके पूर्व 2 जनवरी को एसडीएम अपने अपने अनुभाग पर बैठक आयोजित कर फसल बीमा योजना के अन्तर्गत किसानों के फार्म भरवाने की व्यवस्था सुनिश्चित करें। इस दिशा में आयोजित बैठक एवं कैम्पो में मैदानी अमला पटवारी और ग्राम पंचायत के सचिव, अन्य विभागीय अमला मौजूद रहना चाहिए। जिससे शत प्रतिशत किसानों का फसल बीमा योजना का लाभ दिया जा सके।

खाद्यान्न पर्ची का का वितरण कैम्पो के माध्यम से  

   कलेक्टर डॉ. इलैया राजा टी ने समय सीमा के प्रकरणों की समीक्षा बैठक में शहरी एवं ग्रामीण क्षेत्र के ऐसे 8690 बीपीएल परिवारों को खाद्यान्न पर्ची कैम्पो के माध्यम से उपलब्ध कराने के निर्देश विभागीय अधिकारियों को दिए। उन्होंने कहा कि 5 जनवरी 2018 को दोपहर 12 बजे तक आयोजित होने वाले कैम्पो के माध्यम से जिले की जनपद पंचायत अटेर के कैम्प में 1051, भिण्ड में 1018, गोहद में 938, लहार में 658, मेहगांव में 778, रौन में 250 का वितरण किया जावे। इसीप्रकार जिले की नगरीय निकाय भिण्ड के क्षेत्र में 1238, गोहद में 720, आलमपुर में 71, अकोडा में 150, दबोह में 120, फूप में 42, गोरमी में 141, लहार में 340 एवं मौ में 134, मेहगांव में 257 एवं मिहोना में 122 खाद्यान्न पर्ची पात्र परिवारों को उपलब्ध कराई जावे।

डिजीटल स्मार्ट क्लास का उद्घाटन 26 जनवरी को

   कलेक्टर डॉ. इलैया राजा टी ने टीएल बैठक में शिक्षा विभाग एवं संबंधित विभागीय अधिकारियों को निर्देश दिए कि सभी विद्यालयों में डिजीटल क्लास रूम (स्मार्ट क्लास) रूम का उदघाटन 26 जनवरी 2018 को किया जावेगा।
कलेक्टर ने कहा कि जिला शिक्षा अधिकारी एवं डीपीसी इस दिशा में सभी शासकीय विद्यालयों में व्यवस्था सुनिश्चित करें। साथ ही जामना स्कूल में दिव्यांगो के लिए व्यवस्था सुनिश्चित की जावे। इसीप्रकार मानपुरा विद्यालय में बाउण्डरीवाल एवं शौचालय का निर्माण ग्राम पंचायत के माध्यम से कराया जावे।

विशेष ग्रामसभाओं का होगा 26 जनवरी को आयोजन

   कलेक्टर डॉ. इलैया राजा टी ने समय सीमा के प्रकरणों की समीक्षा बैठक में विभागीय अधिकारियों से चर्चा करते हुए कहा कि 26 जनवरी गणतंत्र दिवस के अवसर पर विशेष ग्रामसभाओं का आयोजन किया जावेगा। इन ग्रामसभाओं में ग्राम पंचायतो के विकास की अवधारणाओं को मूतरूप दिया जावेगा।

सर्वोच्च प्राथमिकता वाली योजनाओं में लक्ष्यपूर्ति करने के निर्देश

   कलेक्टर डॉ. इलैया राजा टी ने टीएल बैठक में शासन की जनहितेषी एवं कल्याणकारी योजनाओं के अन्तर्गत शत प्रतिशत लक्ष्यपूर्ति 26 जनवरी के पूर्व करने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री स्वरोजगार योजना, मुख्यमंत्री आर्थिक कल्याण योजना, मुख्यमंत्री युवा उद्यमी योजना के अलावा अन्य शासन की सर्वोच्च प्राथमिकता वाली योजनाओं में लक्ष्यपूर्ति शत प्रतिशत की जावे। जिससे इन योजनाओं में हितग्राही लाभ प्राप्त कर अपने व्यावसाय को चलाने में सक्षम  बनकर आर्थिक दिशा में तरक्की का मार्ग प्रशस्त्र कर सके। इस दिशा में कलेक्टर चैम्बर में 3 जनवरी 2018 को सायं 5 बजे आयोजित बैठक में लक्ष्यों की प्रगति की समीक्षा की जावेगी।

जिला चिकित्सालय में कैम्प का आयोजन 12 जनवरी को

    कलेक्टर डॉ. इलैया राजा टी के निर्देशन में आयोजित टीएल बैठक में मुख्यमंत्री बाल हृदय उपचार योजना एवं राज्य बीमारी सहायता निधि के अन्तर्गत रोगियों के उपचार की दिशा में अनुकरणीय पहल की जावेगी। साथ ही इन योजनाओं में लाभ दिलाने की दिशा में विषय विशेषज्ञ चिकित्सको की टीम द्वारा जिला चिकित्सालय में 12 जनवरी 2018 को आयोजित होने वाले कैम्प के माध्यम से सुविधाऐं मुहैया कराई जावेगी।

 सीएमएचओ डॉ. जेपीएस कुशवाह ने बैठक में बताया कि मुख्यमंत्री बाल हृदय उपचार योजना के तहत गरीबी रेखा के नीचे जीवन यापन करने वाले एवं जो गरीबी रेखा के नहीं है तथा अपने बच्चों का ईलाज करा पाने में सक्षम नहीं है, ऐसे परिवार के 0-15 वर्ष के हृदय रोग से पीडित बच्चों का उपचार/ऑपरेशन हेतु ईलाज रूपऐ 1 लाख रूपए तक की राशि से मान्यता प्राप्त अस्पताल में कराने की सुविधा प्रदान की जाती है। इसीप्रकार म.प्र. राज्य बीमारी सहायता निधि के अन्तर्गत गरीबी रेखा के नीचे जीवन यापन करने वाले परिवारो के सदस्यों को चिन्हित गंभीर जीवन घातक बीमारियों से पीडित होने पर न्यूनतम 25 हजार रूपए से 2 लाख रूपए तक उपचार की सुविधा के लिए चिकित्सा सहायता उपलब्ध कराने का प्रावधान किया गया है।