सूर्य नमस्कार से तन-मन होता है स्फूर्तिमान – कलेक्टर

0

गुना  – ईपत्रकार.कॉम |कलेक्टर श्री राजेश जैन एवं जिला पंचायत अध्यक्ष श्रीमती अर्चना चौहान आज स्वामी विवेकानंद के जन्मदिन युवा दिवस पर यहां शासकीय उत्कृष्ट उ.मा. विद्यालय में सामूहिक सूर्य नमस्कार कार्यक्रम में शामिल हुए। आज प्रात:काल सामूहिक सूर्य नमस्कार में विद्यालय के सभी विद्यार्थियों ने भाग लिया। इस मौके पर कलेक्टर श्री जैन ने बातचीत में कहा कि सूर्य नमस्कार का मुख्य उद्देश्य लोगों के तन-मन को स्फूर्तिमान और सूर्य के ताप के समान ओजस्वी बनाना है। सूर्य नमस्कार से शरीर स्वस्थ और चित्त प्रसन्न रहता है।

सामूहिक सूर्य नमस्कार कार्यक्रम के रेडियो से सीधे प्रसारण की व्यवस्था की गई थी। रेडियो से सीधे प्रसारण के दौरान प्रात:काल शुरू में राष्ट्रगीत वंदेमातरम् का सामूहिक गान हुआ तथा तत्पश्चात प्रदेश के मुख्यमंत्री का संदेश सुनवाया गया। इसके बाद सूर्य नमस्कार और प्राणायाम की शुरूआत की गई।

सूर्य नमस्कार के लिए एक से 12 गिनती के आधार पर योगमुद्रा थीं। एक पर प्रार्थना मुद्रा, दो पर हस्तउत्तानासन, तीन पर पादहस्तासन, चार पर अश्वसंचालन, पांच पर पर्वतासन, छह पर अष्टांग नमस्कार, सात पर भुजंगासन, आठ पर पर्वतासन, नौ पर अश्वसंचालन, दस पर पादहस्तासन, ग्यारह पर हस्तउत्तानासन और अंत में बारह पर प्रार्थना मुद्रा हुई। कलेक्टर एवं जिला पंचायत अध्यक्ष ने हर योग मुद्रा की क्रिया को किया।

उल्लेखनीय है कि सूर्य नमस्कार बारह स्थितियों से मिलकर बना है। सूर्य नमस्कार के एक पूर्ण चक्र में 12 स्थितियों को क्रम से दोहराया जाता है। सूर्य नमस्कार नामक यह व्यायाम 7 आसनों का समुच्च है। नियत श्वसन एवं परिष्कृत हलचल के साथ सूर्य नमस्कार करने से प्रदीर्घ आयु एवं आरोग्य की प्राप्ति होती है। उक्त अवसर पर अनुविभागीय अधिकारी राजस्व गुना श्री दिनेश चन्द शुक्ला, जिला शिक्षा अधिकारी श्री एस.के. श्रीवास्तव एवं जिला परियोजना समन्वयक श्री आशीष टांटिया भी मौजूद थे। पूरे जिले की शैक्षणिक संस्थाओं में एक ही निर्धारित समय में सूर्यनमस्कार एवं प्राणायाम गतिविधि सम्पन्न हुई।