हम सभी को अपनी दिनचर्या में योग को अवश्य शामिल करना चाहिए – स्कूल प्राचार्य

0

बड़वानी  – ईपत्रकार.कॉम |राष्ट्रीय योग दिवस के अवसर पर 12 जनवरी (शुक्रवार) को रुक्मणी एकेडमी बड़वानी में योग शिविर आयोजित किया गया। जिसमे विद्यालय के समस्त छात्र/छात्राओं ने बड़े उत्साह के साथ भाग लिया। इस महत्वपूर्ण दिवस को सफल बनाने तथा हमारी आने वाली नई प्रतिभावन पीढ़ी में हमारी भारतीय संस्कृति के प्रति जागरूकता लाने हेतु स्कूल प्राचार्य श्री. प्रशांत पी. नायर जी ने भारतीय संस्कृति के संबंध में कई महत्वपूर्ण जानकारी देते हुए बताया कि भारतीय संस्कृति विश्व में सबसे समृद्ध संस्कृति है, साथ ही उन्होंने कहा की हम सभी को अपनी दिनचर्या में योग को अवश्य शामिल करना चाहिए, क्योंकि योग से मनुष्य की सुप्त चेतना जागृत होती है तथा मनुष्य अपने आपको एक नए उद्देश्य से जोड़ता हैं और योगाभ्यास उन सभी उद्देश्यों को प्राप्त करने हेतु मानसिक तथा शारिरीक शाक्ति प्रदान करता है। स्नान तन को, ध्यान मन को, दान धन को तथा योग जीवन को शुद्ध कर देता है। योग के कारण ही आज हमारी भारतीय संस्कृति, विश्व की 114 संस्कृतियों में से उन चुनिंदा संस्कृतियों में शामिल है, जो आज भी जीवित है।

इस अवसर पर प्राचार्य श्री. प्रशांत पी. नायर जी ने स्वामी विवेकानंद जी के बारे में बताते हुए कहा कि स्वामी विवेकानंद जी का व्यक्तित्व बहुत प्रभावशाली था। इस अवसर पर स्कूल के समस्त बच्चों ने उत्साह के साथ भाग लेते हुए पहले प्राणायाम किया एवं उसके बाद सूर्य नमस्कार किया गया जिसमे संस्था के समस्त शिक्षक व शिक्षिकाओ ने भी विद्यार्थियों का उत्साहवर्धन करते हुए उनके साथ योग किया।