अभिजीत पर बेतुके बयान न दें पार्टी नेता: BJP

0

पश्चिम बंगाल में जन्मे अभिजीत बनर्जी को अर्थशास्त्र के लिए नोबेल पुरस्कार मिला है। ऐसे में अभिजीत बनर्जी के खिलाफ भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) के कुछ नेताओं की टिप्पणी को लेकर पश्चिम बंगाल बीजेपी असहज है। यह बात सोमवार को पार्टी के एक वरिष्ठ नेता ने कही। उन्होंने कहा कि पार्टी की राज्य इकाई ने उनसे इस तरह की टिप्पणी फिर से नहीं करने को कहा है। दरअसल, पार्टी बंगाल में तृणमूल कांग्रेस को बैठे बिठाए कोई मुद्दा नहीं देना चाहती है।

उन्होंने कहा कि कोलकाता में जन्मे अर्थशास्त्री के खिलाफ अवांछित टिप्पणियों से राज्य में बीजेपी की छवि पर नकारात्मक असर होगा। पार्टी राज्य में 2021 में होने वाले विधानसभा चुनावों में तृणमूल कांग्रेस को सत्ता से हटाने के लिए एड़ी चोटी का जोर लगा रही है। राज्य बीजेपी के सूत्रों के मुताबिक राज्य और केंद्रीय नेताओं के एक धड़े द्वारा बेतुके बयान देने से बंगाल की जनता में अच्छा संदेश नहीं गया है। उन्होंने कहा कि आलोचना को ‘बंगाल विरोधी’ भावना को बढ़ावा देने के प्रयास के तौर पर देखा जा रहा है।

‘जनता के बीच जा रहा है गलत संदेश’
बीजेपी के एक वरिष्ठ नेता ने नाम उजागर नहीं करने की शर्त पर कहा, ‘हमने अपनी पार्टी के सदस्यों और नेताओं से कहा है कि अभिजीत बनर्जी के खिलाफ बेतुका बयान नहीं दें। हमें जिस तरह की प्रतिक्रिया मिल रही है, जनता के बीच अच्छा संदेश नहीं जा रहा है, जोकि अपनी हस्तियों को लेकर काफी संवेदनशील हैं।’

उन्होंने कहा, ‘नोबेल पुरस्कार जीतने के बाद अभिजीत बनर्जी बंगाल में महत्वपूर्ण हस्ती बन गए हैं और हमें धारा के विपरीत जाने का प्रयास नहीं करना चाहिए।’ इसी तरह की भावना जाहिर करते हुए एक अन्य भगवा नेता ने कहा कि पार्टी अगर बनर्जी के खिलाफ हमले जारी रखती है तो उसे ‘बंगाल विरोधी’ करार दिया जाएगा।

बेटे के समर्थन में आईं अभिजीत की मां निर्मला बनर्जी
वहीं, अभिजीत के बार में टिप्पणियों पर उनकी मां निर्मला बनर्जी ने कहा, ‘मेरे बेटे के खिलाफ दिए गए बयानों पर मैं टिप्पणी नहीं करना चाहती हूं। यह उनका विशेषाधिकार है, उनकी अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता है लेकिन इस तरह की टिप्पणियों से वे अपनी बात साबित नहीं कर पाएंगे।’ बता दें कि केंद्रीय मंत्री पीयूष गोयल ने हाल ही में अभिजीत बनर्जी को वामपंथी रुझान वाला व्यक्ति बताया था।

दूसरी ओर पीयूष गोयल के विचारों से सहमत होते हुए बीजेपी के राष्ट्रीय सचिव राहुल सिन्हा ने दावा किया कि अभिजीत बनर्जी का आर्थिक सिद्धांत भारत में साबित नहीं हो सका है। बता दें कि अभिजीत की मां निर्मला बनर्जी खुद भी मशहूर अर्थशास्त्री हैं। उन्होंने कहा कि अभिजीत की आलोचना करने वालों को यह महसूस करना चाहिए कि दूसरे लोगों को भी यही अधिकार है।