कांग्रेस का दावा झूठा, 2016 से पहले नहीं हुई कोई सर्जिकल स्ट्राइक: रक्षा मंत्रालय

0

सर्जिकल स्ट्राइक पर देश की सियासत गरमाती ही जा रही है। चुनावी माहौल में इस मुद्दे ने और तूल पकड़ लिया है। वहीं इसी बीच रक्षा मंत्रालय ने UPA के कार्यकाल के दौरान 6 बार की गई सर्जिकल स्ट्राइक के सभी दावों को खारिज कर दिया है। मंत्रालय के अनुसार 2016 से पहले भारतीय सेना द्वारा किए गए किसी भी सर्जिकल स्ट्राइक का कोई सबूत नहीं है।

दरअसल जम्मू के रोहित चौधरी ने आरटीआई में 2004 से 2014 के बीच सर्जिकल स्ट्राइक के बारे में विवरण मांगा था। जिसके जवाब में मंत्रालय ने कहा कि उसके पास केवल एक सर्जिकल स्ट्राइक के बारे में डेटा है जो 29 सितंबर 2016 को उत्तरी कश्मीर में उरी आतंकी हमले के बाद हुई थी।

रोहित चौधरी ने आरटीआई में कहा कि कांग्रेस लोगों के सामने सर्जिकल स्ट्राइक को लेकर झूठ बोल रही थी, यूपीए कार्यकाल के दौरान किसी भी तरह की स्ट्राइक नहीं की गई थी। बता दें कि हाल ही में कांग्रेस ने दावा किया था कि उसके कार्यकाल के दौरान 6 सर्जिकल स्ट्राइक किए गए थे। कांग्रेस के अनुसार पहली 19 जून 2008 को जम्मू और कश्मीर के पुंछ स्थित भट्टल सेक्टर में, दूसरी 30 अगस्त 1 सितंबर के बीच नीलम नदी की घाटी के शारदा सेक्टर में सर्जिकल स्ट्राइक की गई थी।

कांग्रेस नेता राजीव शुक्ला ने दावा किया था कि एक सर्जिकल स्ट्राइक 6 जनवरी 2013 को सावन पतरा चेकपोस्ट, एक 27 और 28 जुलाोई 2013 को नाजापीर सेक्टर में की गई। उन्होंने कहा कि 6 अगस्त 2013 को नीलम घाटी और 14 जनवरी 2014 को भी एक सर्जिकल स्ट्राइक की गई।