कुछ ही दिनों में धन कुबेर होंगे मेहरबान, घर की महिलाओं को करना होगा ये काम

0

वास्तु विद्वानों का मानना है महिलाएं घर में पैदा होने वाली ऊर्जा का मुख्य स्त्रोत हैं। उन्हीं के आचार-व्यवहार से घर में नकारात्मक और सकारात्मक ऊर्जा का प्रवेश होता है। घर में सुख-शांति और समृद्धि का समावेश करवाने के लिए महिलाओं को फॉलो करने चाहिए ये टिप्स। कुछ ही दिनों में आप नोटिस करेंगे की धन कुबेर हैं आप पर मेहरबान। महिलाओं का बात-बात पर क्रोध करना, चिढ़ना और चिल्लाना घर में नकारात्मकता को जन्म देता है। अत: इससे दूर रहें। अपने आप पर होने वाले भरोसे में वृद्धि करें। जीवन की छोटी-छोटी बातों का पूरे मन से आनंद उठाएं। अपने परिवार के प्रेम के धागे दृढ़ करें।

महिलाओं को साफ-सफाई करने के तुरंत बाद स्नान कर लेना चाहिए। वास्तु के अनुसार साफ-स्वच्छ न रहने से रोग और नकारात्मकता अपने आकर्षण में बांध लेती है।

महिलाओं को नहाने के बाद रसोई में जाना चाहिए। इससे पारिवारिक सदस्यों की सेहत अच्छी रहती है और सकारात्मकता का प्रवाह भी बढ़ता है।

सूरज ढलने के बाद महिलाओं को बाल नहीं बनाने चाहिए। बालों में कंघी करने से अशुभता बढ़ती है। रात को सोते समय बाल बांध कर सोना चाहिए अन्यथा ऐश्वर्य लक्ष्मी नाराज हो जाती हैं। बाल खुले रखकर सोने से बुरे सपने भी आते हैं।

भोजन बनाने के बाद सबसे पहले एक थाली लगाएं और घर के मंदिर में भगवान को भोग लगाएं। फिर उस थाली को सारे भोजन में मिलाकर पारिवारिक सदस्यों को परोसें।

तन मन को स्वस्थ रखने के लिए बेहद जरूरी है घर की सफाई। सकारात्मक उर्जा के लिए घर पूरी तरह साफ-सुथरा होना चाहिए। घर में हमें सुख-शांति, मान-सम्मान और धन-वैभव सहित सभी सुविधाएं प्राप्त होती हैं। अगर घर साफ-सुथरा होगा तो तन मन प्रफुल्लित रहेगा। गंदगी से भरपूर घर जहां व्यक्ति के स्वास्थ्य में नकारात्मकता का संचार करता है वहीं घर में बरकत के लिए सबसे बड़ी बाधा उत्पन्न करता है रात के समय की गई सफाई। हिंदू शास्त्र, वास्तु शास्त्र और वैज्ञानिक दृष्टि से रात के समय की गई घर की साफ-सफाई वर्जित है। रात के समय घर का कचरा बाहर फेंकना भी अशुभ होता है। ऐसा करने से स्वास्थ्य तो प्रभावित होता ही है, साथ ही घर-परिवार की प्रगति में भी बाधाएं उत्पन्न होती हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here