कोरोना को हराना है तो उससे 2 कदम आगे की सोच जरूरी-CM योगी

0

यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने टीम 11 की बैठक में अफसरों को कई निर्देश दिए. मुख्यमंत्री ने प्रदेश में सोमवार को कोविड-19 के 1 लाख 46 हजार टेस्ट किए जाने पर संतोष जताते हुए टेस्टिंग क्षमता को बढ़ाकर 1 लाख 50 हजार टेस्ट प्रतिदिन किए जाने के निर्देश दिए.

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि कोविड-19 के प्रभावी नियंत्रण के लिए कोरोना से दो कदम आगे की सोच रखनी होगी, क्योंकि यह एक महामारी है. उन्होंने कहा कि कोरोना वायरस से ठीक हुए मरीजों की मेडिकल ट्रीटमेंट विधि का गहन अध्ययन किया जाए, इससे आगे की रणनीति तैयार करने में मदद मिलेगी. मुख्यमंत्री ने कहा कि कोरोना से निपटने के लिए राज्य सरकार की ओर से अपनाई गई रणनीति के परिणामस्वरूप देश और दुनिया की तुलना में प्रदेश में कोविड-19 से मृत्यु की दर काफी कम है. उन्होंने मृत्यु दर को न्यूनतम स्तर पर लाने के लिए हरसंभव प्रयास करने के निर्देश दिए.

बैठक में मुख्यमंत्री ने कहा कि सभी जिलाधिकारी और मुख्य चिकित्सा अधिकारी अपने-अपने जिलों में सर्विलांस, कांटेक्ट ट्रेसिंग, डोर-टू-डोर सर्वे और मेडिकल टेस्टिंग में तेजी लाएं. उन्होंने निर्देश दिया कि इंटीग्रेटेड कमांड एंड कंट्रोल सेंटर की ओर से होम आइसोलेशन में रह रहे संक्रमित मरीजों से नियमित संवाद रखते हुए रोगियों की स्वास्थ्य की जानकारी प्राप्त की जाए,

मुख्यमंत्री ने कहा, कोरोना वायरस से लोगों को सुरक्षित रखने के लिए जनता को लगातार जागरूक किया जाए. औद्योगिक इकाइयों के संचालन में सोशल डिस्टेंसिंग और स्वास्थ्य विभाग के दिशा-निर्देशों का पूरी तरह से पालन कराया जाए. वर्ष 2020 की हाई स्कूल और इंटरमीडिएट परीक्षाओं के मेधावी विद्यार्थियों को सम्मानित किए जाने का प्रस्तावित कार्यक्रम कोविड-19 को देखते हुए स्वास्थ्य विभाग के निर्देशों के अनुरूप आयोजित किया जाए.