कोरोना वायरस के संक्रमण की रोकथाम के लिए हर स्तर पर बरती जाये सतर्कता

0

कलेक्टर भरत यादव ने नोवल कोरोना वायरस के संक्रमण की रोकथाम के लिए सभी जरूरी एहतियात बरतने के निर्देश दिये हैं। कलेक्टर कार्यालय के सभाकक्ष में आज सोमवार को आयोजित समय-सीमा प्रकरणों की साप्ताहिक समीक्षा बैठक में जिला अधिकारियों को संबोधित करते हुए श्री यादव ने कहा कि कोरोना वायरस के संक्रमण के लक्षण एवं बचाव के उपायों के प्रति लोगों को जागरूक करने के साथ-साथ शासन एवं प्रशासन द्वारा इसकी रोकथाम के लिए समय-समय पर जारी दिशा-निर्देशों और गाईड लाइन का भी कड़ाई से पालन सुनिश्चित कराना होगा।

कलेक्टर ने बैठक में कहा कि कोरोना वायरस के संक्रमण के फैलने का फिलहाल जबलपुर जिले में कोई खतरा नहीं है और आज तक एक भी पॉजिटिव केस इस जिले में नहीं पाया गया है। लेकिन विश्व स्वास्थ्य संगठन द्वारा इसे महामारी घोषित कर दिये जाने के बाद इसकी रोकथाम के उपायों के प्रति हर स्तर पर गंभीरता बरतनी होगी। श्री यादव ने राज्य सरकार के लोक स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय द्वारा सतर्कता के बतौर स्कूल, कॉलेज एवं आंगनबाड़ी केन्द्र, सिनेमा हॉल, मैरिज हॉल, सार्वजनिक पुस्तकालयों, वाटर पार्क, जिम तथा स्वीमिंग पूल को 31 मार्च तक बंद करने के निर्णय का जिले में कड़ाई से पालन कराने के निर्देश संबंधित अधिकारियों को दिये। उन्होंने इन निर्णयों का पालन कराने के लिए अनुविभाग स्तर पर एसडीएम के नेतृत्व में टॉस्क फोर्स समिति का गठन करने की बात भी कही। श्री यादव ने कहा कि टॉस्क फोर्स समिति बाजार में मास्क और हैंड सेनिटाइजर की कालाबाजारी रोकने के लिए आकस्मिक जाँच की कार्यवाही भी करेगी।

कलेक्टर ने पांचवीं, आठवीं, दसवीं एवं बारहवीं की बोर्ड परीक्षायें दे रहे छात्र-छात्राओं को छोड़कर शेष छात्रों से छात्रावासों को खाली कराने के निर्देश भी बैठक में दिये। उन्होंने कोरोना वायरस के संक्रमण को लेकर किये जाने वाले दुष्प्रचार का तुरंत खंडन करने और सोशल मीडिया पर फैलाई जा रही अफवाहों की सूचना पुलिस के साइबर सेल को तत्काल देने के निर्देश दिये। श्री यादव ने अफवाह फैलाने वालों के विरूद्ध एफआईआर दर्ज कराने की बात कही।

कलेक्टर ने समय-सीमा प्रकरणों की बैठक के माध्यम से नागरिकों से भी अनुरोध किया कि वे अफवाहों और दुष्प्रचार से बचें। उन्होंने लोगों से सतर्कता बरतने का आग्रह करते हुए कहा कि सावधानी ही इस वायरस से संक्रमण से बचने का सबसे बेहतर उपाय है। श्री यादव ने नागरिकों को भीड़-भाड़ में जाने से बचने और आवश्यक होने पर ही बाजार जाने की सलाह दी है। उन्होंने सर्दी, खांसी, बुखार आने तथा सांस लेने में तकलीफ होने की स्थिति में तुरंत डॉक्टर से परामर्श लेने का आग्रह भी नागरिकों से किया।

कलेक्टर ने निजी कोचिंग संस्थानों को 31 मार्च तक बंद रखने के आदेश का भी कड़ाई से पालन करने के निर्देश देते हुए अधिकारियों को रेल्वे स्टेशन, बस स्टैंड, मॉल एवं भीड़-भाड़ वाले क्षेत्रों में सतर्कता के इंतजाम सुनिश्चित करने के निर्देश दिये हैं। श्री यादव ने कहा कि 20 से अधिक लोगों की सभाओं के आयोजन की अनुमति स्वास्थ्य विभाग की बिना अनुशंसा के न दी जाये। उन्होंने शासकीय कार्यालयों में बायोमेट्रिक सिस्टम से कर्मचारियों की उपस्थिति दर्ज कराने पर लगाई रोक का भी पालन कराने तथा सार्वजनिक वितरण प्रणाली के उपभोक्ताओं को खाद्यान्न का वितरण पीओएस मशीन के इस्तेमाल को भी रोकने निर्देश दिये।

समय-सीमा प्रकरणों की समीक्षा बैठक में कलेक्टर ने मुख्यमंत्री हेल्पलाइन से प्राप्त शिकायतों की समीक्षा भी की। उन्होंने सौ दिन से अधिक समय से लंबित मुख्यमंत्री हेल्पलाइन की शिकायतों के निराकरण को प्राथमिकता देने की हिदायत दी। श्री यादव ने सीएम मॉनिट से प्रापत आवेदनों के निराकरण को सर्वोच्च प्राथमिकता देने के निर्देश भी दिये। उन्होंने समर्थन मूल्य पर गेहूं के उपार्जन के लिए पंजीयन कराने वाले किसानों के सत्यापन की कार्यवाही शीघ्र पूरी करने तथा नगर निगम सीमा क्षेत्र में पीडीएस सर्वे के कार्य में गति लाने के निर्देश भी दिये।

बैठक में जिला पंचायत के सीईओ प्रियंक मिश्रा, अपर कलेक्टर संदीप जीआर एवं अपर कलेक्टर व्ही.पी.द्विवेदी भी मौजूद थे।