जल जीवन मिशन के तहत रथों के माध्यम से ग्रामीणों को किया जायेगा जागरूक

0

लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी विभाग खण्ड कार्यालय ग्वालियर में जल जीवन मिशन की जानकारी ग्रामीण जनों को देने एवं पेयजल संरक्षण, पेयजल गुणवत्ता के बारे में जागरूकता लाने के उद्देश्य से लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी विभाग ग्वालियर के मुख्य अभियंता श्री एस के अंधमान ने जागरूकता रथों को हरी झण्डी दिखाकर रवाना किया।

इस मौके पर डिप्लोमा इंजीनियर संघ के प्रांत अध्यक्ष श्री राजेन्द्र सिंह भदौरिया, कार्यपालन यंत्री ग्वालियर श्री संजीव कुमार गुप्ता, कार्यपालन यंत्री शिवपुरी श्री एस एल बाथम, उपायुक्त नगर निगम श्री एपीएस भदौरिया सहित विभागीय अधिकारी एवं कर्मचारी, जनप्रतिनिधि आदि उपस्थित थे।

जल जीवन मिशन का लक्ष्य वर्ष 2024 तक प्रत्येक ग्रामीण परिवार को नलों के माध्यम से पेयजल उपलब्ध कराना है। इस लक्ष्य की पूर्ति हेतु लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी विभाग खण्ड ग्वालियर द्वारा नल-जल योजनाओं के माध्यम से प्रत्येक घर में नल, हर नल में जल हेतु युद्ध स्तर पर कार्य करना भी शुरू कर दिया है। टाटा मैजिक पर सुसज्जित पेयजल जागरूकता रथों के माध्यम से स्थानीय बोली में रोचक गीत एवं संगीत एवं लघु फिल्मों के द्वारा ग्रामीणों को पेयजल संरक्षण एवं संवर्धन, पेयजल गुणवत्ता, ग्रामीण जल प्रदाय योजनाओं के संचालन एवं रख-रखाव में जनभागीदारी एवं पेयजल संरचनाओं के आस-पास स्वच्छता रखकर भू-जल को प्रदूषण से बचाने जैसे कार्यों की जानकारी दी जायेगी।

उल्लेखनीय है कि जल जीवन मिशन पूर्ण रूप से ग्रामीण समुदाय पर आधारित कार्यक्रम है। इस मिशन में लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी विभाग द्वारा ग्रामीण समुदाय को विकल्प उपलब्ध कराए जायेंगे एवं उनकी क्षमता वृद्धि की जायेगी। निर्णय लेने में समुदाय की भूमिका सर्वोपरि रहेगी। जिसमें सामान्य एवं पिछडे वर्ग के द्वारा कुल परियोजना लागत का 10 प्रतिशत अंशदान एवं अनुसूचित जाति व जनजाति बाहुल ग्रामों में कुल परियोजना लागत के 5 प्रतिशत अंशदान का प्रावधान है। अंशदान ग्रामीण समुदाय के द्वारा नगद, श्रम या कार्य में सहयोग कर दिया जा सकता है।