बस स्टैंडों को सुविधाजनक बनाकर यात्रियों को बुनियादी सुविधाएं उपलब्ध कराएं – संभागायुक्त श्री कियावत

0

भोपाल  – ईपत्रकार.कॉम |बस स्टैंडों पर यात्रियों को आवश्यक मूलभूत सुविधाएं उपलब्ध कराने एवं बस स्टैंडों का सुचारू संचालन सुनिश्चित करने के लिए आज संभागायुक्त श्री कवीन्द्र कियावत की अध्यक्षता में बैठक सम्पन्न हुई। बैठक में राजगढ़, विदिशा, सीहोर, रायसेन जिले के सीएमओ सहित संबंधित विभागीय अधिकारी उपस्थित थे।

बैठक में संभागायुक्त श्री कियावत ने कहा कि बस स्टैंडों को सुविधाजनक बनाना एवं यात्रियों को बुनियादी सुविधाएं उपलब्ध कराना हमारी प्राथमिकता होना चाहिए। इसके लिए जिला स्तरीय बस स्टैंड निगरानी समिति का गठन पहले ही किया जा चुका है, इस समिति के अध्यक्ष कलेक्टर एवं जिला दण्डाधिकारी, सदस्य सचिव परियोजना अधिकारी जिला विकास अभिकरण, सदस्यों में पुलिस अधीक्षक, नगर निगम आयुक्त/ मुख्य नगर पालिका अधिकारी, क्षेत्रीय/जिला परिवहन अधिकारी यात्री वाहन मालिक एसोसिएशन के दो प्रतिनिधियों को शामिल किया गया है। इसी प्रकार निकाय स्तरीय बस स्टैंड समिति में अध्यक्ष एसडीएम, सदस्य सचिव मुख्य नगर पालिका अधिकारी तथा एसडीओपी/टीआई, आरटीओ/नामित प्रतिनिधि, बस आपरेटर/ यूनियन के दो प्रतिनिधि, पीओ डूडा/ नामित प्रतिनिधि सदस्य होंगे।

संभागायुक्त श्री कियावत ने कहा कि इन समितियों की त्रैमासिक बैठक और प्रत्येक बस स्टैंड पर एक नोडल अधिकारी की नियुक्ति की जाना सुनिश्चित करें। संभागायुक्त ने सभी जिला अधिकारियों से बस स्टैंडों पर वर्तमान में दी जा रही सुविधाओं की जानकारी प्राप्त करते हुए निर्देशित किया कि प्रत्येक बस स्टैंड पर यात्रियों को दी जाने वाली बुनियादी सुविधाओं को उपलब्ध कराने के लिए सभी जिला सीएमओ सुनिश्चित करें कि बस स्टैंड पर यात्रियों के बैठने के लिए समुचित व्यवस्था हो, डस्टबिन, साफ सफाई, पानी की निकासी, पीने के पानी की व्यवस्था, सतत विद्युत आपूति, स्वच्छ शौचालय, सफाईकर्मी नियुक्त किए जाएं और यात्री वाहनों एवं निजी वाहनों की नि:शुल्क पार्किंग व्यवस्था की जाये। उन्होंने कहा कि बस स्टैंडों पर किए गए अनाधिकृत कब्जों को हटाते हुए स्थाई गुमठी अथवा दुकानों को व्यवस्थित रूप से स्थापित किया जाये। बस स्टैंडों पर ऐसी व्यवस्था हो कि रात्रि में बस स्टैंड रैन बसेरा का कार्य करें। यात्रियों को सर्दी और गर्मी में अनुकूल वातावरण मिले।

श्री कियावत ने निर्देशित किया कि जिन निकायों में बस स्टैंड के लिए भूमि आवंटित नहीं हैं वहां भूमि चिन्हांकित कर कलेक्टर द्वारा भूमि की अनुमति प्राप्त कर बस स्टैंड निर्मित किए जाएं। उन्होंने निर्देश दिए कि उक्त सभी कार्यों को एक माह की अवधि में पूर्ण किया जाना सुनिश्चित करें।

Previous articleमुख्यमंत्री श्री कमल नाथ की घोषणा का क्रियान्वयन शुरू
Next articleसंभाग आयुक्त एवं क्षेत्रीय विधायक ने लिया तानसेन समारोह की तैयारियों का जायजा