मुख्यमंत्री श्री चौहान पीथमपुर में रोजगार दिवस में होंगे शामिल

0

ख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान के मुख्य आतिथ्य में 4 नवम्बर को पीथमपुर में रोजगार दिवस एवं “एक जिला-एक उत्पाद” कार्यक्रम होगा। कार्यक्रम में मुख्यमंत्री श्री चौहान द्वारा 18 करोड़ 50 लाख रूपये की लागत के 21 हेक्टेयर में बनने वाले नवीन औद्योगिक क्षेत्र जेतपुरा धार का शिलान्यास और औद्योगिक क्षेत्र पीथमपुर की 4 एमएसएमई इकाइयों का शुभारंभ किया जाएगा। मुख्यमंत्री विभिन्न विभागों के 345 करोड़ 30 लाख रूपये लागत के 51 कार्यों का लोकार्पण एवं 1026 करोड़ 20 लाख रूपये के 151 कार्यों का भूमि-पूजन भी करेंगे।

रोजगार मेले में केन्द्र एवं राज्य शासन की विभिन्न स्व-रोजगार योजनाओं में स्वीकृत 4321 प्रकरणों में 25 करोड़ 41 लाख रूपए का वितरण किया जाएगा। इन कार्यक्रमों में इंदौर और उज्जैन संभाग के जिलों के “एक जिला-एक उत्पाद” योजना में चयनित उत्पादों तथा धार जिले के 2 स्टार्ट-अप उद्यमियों की प्रदर्शनी भी लगाई जायेगी। धार जिले में बाग प्रिन्ट का ओेडीओपी में चयन किया गया है। साथ ही ओडीओपी उत्पादों की गुणवत्ता में सुधार, व्यापार में निर्यात वृद्धि तथा जेम, फ्लिपकार्ट, ई-बे तथा आईईसी पर ओडीओपी उत्पादकों को पंजीकृत करने के लिये हेल्प डेस्क स्थापित की गई है। ओडीओपी उत्पाद ई-कामर्स पोर्टल पर उत्पाद विक्रय एवं निर्यात सहायता के लिये विभिन्न संस्थाओं द्वारा ऑनलाइन वर्कशॉप का आयोजन किया गया है।

सभी जिलों में रोजगार दिवस के साथ होंगी “एक जिला-एक उत्पाद” संबंधी गतिविधियाँ

मध्यप्रदेश के स्थापना उत्सव के चौथे दिन 4 नवम्बर को सभी जिलों में रोजगार दिवस कार्यक्रम के साथ “एक जिला-एक उत्पाद” को प्रमुखता प्रदान करती हुई गतिविधियों का आयोजन किया जायेगा।

जिला स्तरीय कार्यक्रम

प्रत्येक जिले में ओडीओपी के प्रचार के लिये जिला मुख्यालयों में सेमीनार, प्रशिक्षण गतिविधियाँ की जायेंगी, जिसमें उत्पादों की मार्केटिंग एवं छोटे उद्यमियों एवं उत्पादक कैसे निर्यात शुरू करें आदि विषयों पर चर्चा होगी। सेमीनार में ओडीओपी उत्पादों की सफलता की कहानियों और नवाचारों का प्रदर्शन किया जायेगा तथा ओडीओपी उत्पादों के सफल उद्यमियों को सम्मानित किया जायेगा। गुणवत्ता मानकों पर चर्चा होगी। जिले में अनुसंधान और विकास संबंधी गतिविधियों को बढ़ावा देने पर चर्चा होगी। ओडीओपी उत्पादों में से “प्रवासी भारतीय दिवस” में आहार के लिये उत्पाद का चयन किया जायेगा। आईईसी, जीईएम, ई-बे एवं फ्लिपकार्ट पर ओडीओपी उत्पादकों को पंजीकृत करने के लिये हेल्प डेस्क स्थापित कर केम्प लगाये जायेंगे।

राज्य स्तरीय कार्यक्रम

औद्योगिक नीति एवं निवेश प्रोत्साहन विभाग तथा म.प्र. इण्डस्ट्रियल डेवलपमेंट कार्पोरेशन लिमिटेड द्वारा 4 नवम्बर को राज्य स्तरीय वेबीनार किया जायेगा, जिसमें ओडीओपी के लिये रणनीति, निर्यातक कैसे बनें, जेम पंजीकरण, इंडिया ट्रेड पोर्टल की जानकारी, इंजीनियरिंग एक्सपोर्ट्स और अवसर विषयों पर प्रमुख सचिव औद्योगिक नीति एवं निवेश प्रोत्साहन श्री संजय शुक्ला एवं एमपीआईडीसी के प्रबंध संचालक श्री जॉन किंग्सले तथा विषय-विशेषज्ञों द्वारा जानकारी दी जायेगी।

उल्लेखनीय है कि प्रदेश में 7 विभागों के तहत कई उत्पादों को ओडीओपी में चयनित किया गया है, जिसमें उद्यानिकी विभाग के 13 उत्पाद अदरक, अमरूद, आलू, केला, टमाटर, धनिया, प्याज, मटर, मिर्च, लहसुन, संतरा, सीताफल एवं हल्दी तथा वन विभाग के 3 उत्पाद टीक, बाँस एवं महुआ, पशुपालन विभाग के कड़कनाथ तथा कृषि विभाग के 7 उत्पाद कोदो, कुटकी, तुअर दाल, चना, बासमती चावल, चिन्नौर चावल, सरसों और आँवला, एमएसएमई के 6 उत्पाद कपड़ा जैकेट, कृषि उपकरण, रतलामी नमकीन, लकड़ी का फर्नीचर, सैंडस्टोन टाइल्स, कटनी स्टोन एवं कुटीर और ग्रामोद्योग के 7 उत्पाद कारपेट, गुड़, चंदेरी हैंडलूम, जरी जरदोजी, जूट उत्पाद, बाग प्रिंट, लकड़ी के खिलौने एवं बटिक प्रिंट को शामिल किया गया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here