सडकों पर पत्थर नहीं लगाए, क्योकि जनता के दिल पर लिखना था नाम – काश्यप

0

ईपत्रकार.कॉम – रतलाम ।गाँधी जयंती का दिन रतलाम की अवैध से वैध हुई 33 कालोनियों में ऐतिहासिक सौगातें देने वाला रहा। नगर निगम द्वारा कई कालोनियों में विकास कार्यो का एक साथ महाशुभारंभ किया गया। विशेष बात यह रही कि किसी भी कालोनी में विकास कार्य के शिलालेख(पत्थर) नहीं लगे। विधायक, राज्य योजना आयोग उपाध्यक्ष चेतन्य काश्यप नें महाशुभारंभ कार्यक्रमों में कहा कि आम तौर पर कार्य होने से पहले उसके पत्थर सडकों पर लग जाते है, लेकिन इस बार ऐसे पत्थर नहीं लगवाए, क्योकि पत्थरों के बजाए जनता के दिल पर नाम लिखना था। महापौर डॉ. सुनीता यार्दे ने कहा कि उनके कार्यकाल में रतलाम का अवैध कालोनियों के नियमितिकरण में रोड मॉडल बनना सौभाग्य की बात है, लेकिन इसका श्रेय पूर्व परिषद एवं विधायक श्री काश्यप को जाता है।

विधायक श्री काश्यप ने कहा कि नगर में अवैध कालोनी की समस्या 35-40 वर्षो से थी। पिछलें 4 सालों में कोई अवैध कालोनी नही बनी। इन कालोनियों में मध्यम एवं निम्न वर्ग के परिवारों ने मेहनत का पैसा लगाकर मकान बनाए है। कालोनी अवैध थी, लेकिन उनका पैसा वैध था इसलिए पूर्व महापौर शैलेन्द्र डागा के कार्यकाल में मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान से अवैध कालोनियों को वैध करने का आग्रह किया था। उन्हे गर्व है कि प्रदेश में 5500 से अधिक कालोनियां वैध हो चुकी है। इनसें लोगों के जीवन में बदलाव आया है। श्री काश्यप ने रतलाम के विकास के लिए मेडिकल कालेज, नमकीन क्लस्टर, गोल्ड काम्प्लेक्स और मिनी स्मार्ट सिटी के कार्यो पर प्रकाश डालते हुए कहा कि आगामी पांच सालों में रतलाम में सडक, पानी, बिजली की समस्या से स्थाई मुक्ति मिल जाएगी।

महापौर डॉ. यार्दे ने विकास कार्यो पर प्रकाश डालते हुए कहा कि अवैध कालोनी की समस्या हर जगह रहती है। रतलाम में इन्हें वैध करने की शुरूआत पूर्व परिषद ने कर दी थी। वर्तमान परिषद नें इसके बाद काफी महनत की और पहले 17 तथा अब 33 कालोनियों को वैध कर वहा विकास कार्य कराए जा रहें है। रतलाम के रोल मॉडल बनने से कालोनियों के वैधकरण का लाभ पूरे प्रदेश को मिला है। उन्होंने शहर में अमृत योजना, सीवरेज प्रोजेक्ट एवं स्मार्ट सिटी योजना के तहत् होने वाले कार्यो पर प्रकाश डालते हुए नागरीकों से जल कर एवं सम्पत्ति कर समय पर चुकाने का आव्हान किया।

भाजपा जिला अध्यक्ष श्री कान्हसिंह चौहान ने कहा कि विधायक श्री काश्यप एवं महापौर डॉ. यार्दे के प्रयासों से अवैध कालोनियों में विकास कार्य हो रहें है। इससे पूर्व कालोनीवासियों ने कितना कष्ट भोगा, वह सहज समझा जा सकता है। स्वयं के मकान का सपना हर व्यक्ति का होता है। कालोनाइजर उन्हें बिना सुविधा के मकान देकर चले जाते है, लेकिन वर्तमान में सभी जगह जनता की सरकार है। जनता की परेशानियों को दूर करने के लिए रतलाम में 20 करोड रूपए के विकास कार्य शुरू किए जा रहे है।

रेल नगर में जिला महामंत्री मनोहर पोरवाल, भवानी नगर में पार्षद प्रहलाद जाट, सीमा टांक, पूर्व महापौर शैलेन्द्र डागा, राधाकृष्ण स्कूल में निगम अध्यक्ष अशोक पोरवाल ने संबोधित किया। संचालन स्नेहिल उपाध्याय किया। आभार अनीता कटारा ने माना। कल्याण नगर में पार्षद प्रतिनिधि मुकेश मीणा, पूर्व महापौर श्री डागा ने संबोधित किया। इस दौरान विधानसभा संयोजक जलकार्य प्रभारी प्रेम उपाध्याय, पार्षद सोना शर्मा, इन्दुबाला गोखरू, प्रहलाद पटेल, मनीषा शर्मा, महेन्द्रसिंह चन्द्रावत, सूरज जाट, अरूण राव, रेखा जौहरी, रणजीतसिंह परिहार, जिला महामंत्री प्रदीप उपाध्याय, मंडल अध्यक्ष रमेश बदलानी, जयवंत कोठारी, संतोष पोरवाल, महामंत्री मनोज शर्मा, नंदकिशोर पंवार, प्रभु सौलंकी, मोहन वर्मा, भाजयुमो जिला अध्यक्ष सोनू यादव, अजा मोर्चा के नंदकिशोर तोषावडा, जनकल्याण प्रकोष्ठ के सुनील सारस्वत सहित पार्टी व प्रकोष्ठ के पदाधिकारी एवं कार्यकर्तागण मौजूद थे।

महाशुभारंभ की शुरूआत वार्ड क्रमांक 5 एवं 6 की कालोनियों से हुई। रेल नगर में आयोजित कार्यक्रम में वार्ड 5 की अभय नगर एवं रेल नगर, 6 के गणेश नगर, बाणेश्वरी कालोनी एवं श्री नगर में विकास कार्यो का शुभारंभ किया गया । इसके बाद भवानी नगर मेंन रोड पर वार्ड 7 की जनता कालोनी 8 की भवानी नगर, दीनदयाल नगर स्थित राधाकृष्ण स्कूल के पास वार्ड 17 की हम्माल नगर, 19 की रामरहीम नगर एवं 20 की सैफी नगर कालोनियों के विकास कार्य का शुभारंभ हुआ। यहा वार्ड क्रमांक 19, 20 एवं 22 में मुख्यमंत्री शहरी पेयजल योजना के तहत् विभिन्न कालोनियों में नवीन पाइप लाइन से जल वितरण का शुभारंभ भी किया गया। इसके बाद वार्ड 22 के कल्याण नगर एवं करण नगर में विकास कार्यो का शुभारंभ तथा शुभम रेसीडेंसी कालोनी में पेयजल योजना का शुभारंभ हुआ।