सूर्य नमस्कार के होते है कई फायदे

0

योग का महत्व पूरा विश्व जान चुका है हर एक आसन का अपना एक महत्व होता है। योग को करने वाला हमेशा स्वस्थ रहता है। योग से न सिर्फ बीमारियां हमारे शरीर से दूर रहती है। बल्कि खून का संचार भी दुरूस्त बना रहता है। योग में सूर्य नमस्कार से ही कई रोगों का निदान किया जा सकता है। इससे न सिर्फ तनाव दूर होता है, बल्कि शरीर में मौजूद विषैले तत्व भी बाहर हो जाते है। इस आसन का असर पूरे शरीर पर पड़ता है। यह आसन पीठ और शरीर की मांसपेशियों को मजबूत करने का काम करता है। इसके लिए किसी उपकरण की भी जरूरत नहीं पड़ती है। इसे हर आयु वर्ग के द्वारा किया जा सकता है। सूर्य नमस्कार आसन के अंदर करीब 12 आसन आते है। हम आपको इसके कुछ ऐसे ही फायदे बताने जा रहे है जिसको करके आप अपना स्वास्थ और अच्छा कर सकते है साथ ही कई परेशानियों से निजात भी पा सकते है, तो चलिए जानते है इसके फायदे।

मोटापा और हाई ब्लड प्रेशर
रोजाना सूर्यनमस्कार करने से शरीर में ब्लड सर्कुलेशन व मेटाबॉलिज्म तेज होता है, जिससे वजन घटाने में मदद मिलती है। साथ ही इससे हाई ब्लड प्रेशर भी कंट्रोल में रहता है।

शरीर को मिलती है ऊर्जा
रोजाना 10-15 मिनट सूर्यनमस्कार करने से शरीर में ऑक्सीजन का स्तर बढ़ता है और कार्बन-डाईऑक्साइड बाहर निकलती है। इससे शरीर को दिनभर ऊर्जा मिलती है, जिससे आप कई बीमारियों से बचे रहते हैं।

बेहतर पाचन क्रिया
इस योग के दौरान पेट के आर्गन्स पर दवाब पड़ता है, जिससे पाचन तंत्र ठीक रहता हैं। सुबह खाली पेट सूर्य नमस्कार करने से कब्ज, अपच या पेट में जलन की शिकायत भी दूर होती है। साथ ही यह मांसपेशियां व हड्डियों को मजबूत भी बनाता है।

तेज स्मरण शक्ति
रोजाना यह आसान करने से ना सिर्फ दिमाग शांत रहता है बल्कि इससे स्मरण शक्ति भी बढ़ता है। इतना ही नहीं, अगर आपको भूख नहीं लगती तो इस आसान को करने से आपकी यह परेशानी भी दूर हो जाएगी।

तनाव करे दूर
सूर्य नमस्कार करने से नर्वस सिस्टम शांत होता है। इसके अलावा सूर्य नमस्कार से एंडोक्राइन ग्लैंड्स खासकर थॉयरायड ग्लैंड की क्रिया नॉर्मल होती है। इससे आपके मानसिक तनाव की समस्या दूर हो जाती है।

अनियमित पीरियड्स की समस्या
अनियमित मासिक चक्र की समस्या होने पर महिलाओं को सूर्य नमस्कार के आसन करने चाहिए। इससे आपके मासिक-धर्म रेगुलर हो जाते है।

अनिद्रा की शिकायत
अनियमित दिनचर्या के कारण आज हर दूसरे व्यक्ति को अनिद्रा की शिकायत होने लगी है। ऐसे में अगर आपको नींद न आए तो इस योगासन से आपकी अनिद्रा की समस्या ठीक हो जाएगी।

बॉडी डिटॉक्स
सूर्य नमस्कार के समय आप सांस खींचते और छोड़ते हैं, जिससे हवा आपके फेफड़ों तक और ऑक्सीजन खून तक पहुंचती है। इससे आपके शरीर से कार्बन डाइऑक्साइड और बाकी जहरीली गैस निकल जाती है और आपकी बॉडी डिटॉक्स हो जाती है।

ग्लोइंग स्किन
सूर्य नमस्कार करने से शरीर को प्रयाप्त मात्रा में विटामिन डी मिलता हैं, जोकि त्वचा को निखरी और बेदाग बनाता हैं। इसके अलावा इससे सिर के बाल भी स्वस्थ और मजबूत होते हैं।

बालों के लिए फायदेमंद
अगर आप बालों की समस्‍या से ग्रसित हैं तो यह योगा अभ्‍यास आपके बालों को असमय सफेद होने, झड़ने व रूसी से बचाता है।

सावधानियां
ध्यान रहे कि सूर्य नमस्कार उचित समय और धीमी गति से करें। एक स्थिति में सांस सामान्य होने के बाद ही दूसरी स्थिति शुरू करें। कोमल, अधिक गद्देदार मैट या बिस्तर पर यह आसन न करें। इससे आपकी रीढ़ की हड्डी में बल पड़ सकता है। इसके अलावा स्लिप डिस्क और हाई ब्लड प्रैशर के मरीजों को भी यह योग नहीं करना चाहिए।