सोने का ये तरीका कर देगा आपको लक्ष्मी और सरस्वती की कृपा से दूर

0

सुखद और गहरी नींद एक ऐसा एहसास है, जिसे पाने के लिए अमीर से लेकर गरीब तक रहता है बेताब। क्या आप जानते हैं सोने का गलत तरीका और आपके बेड की दिशा कर सकती है, आपको लक्ष्मी और सरस्वती की कृपा से दूर। वास्तुशास्त्रियों के अनुसार सोते समय कुछ नियमों का पालन अवश्य करना चाहिए। इससे अनचाही परेशानियों और बीमारियों के बचा जा सकता है, साथ- साथ भविष्य को हानि से भी बचाया जा सकता है। किताबों को सिर के नीचे रखने से अथवा मुंह पर रखकर सोने से विद्या की देवी सरस्वती का अपमान होता है। वास्तु के अनुसार किताबों को उचित स्थान पर रखने के बाद नींद के आगोश में जाएं अन्यथा इसके अशुभ प्रभाव से आपके धन और सेहत पर भी असर पड़ेगा।

  • प्रवेश द्वार की ओर पैर करके सोना नहीं चाहिए, लक्ष्मी का अपमान होता है।
  • यदि कोई अधिक समय से बीमार है तो उसे दक्षिण-पश्चिम कोने में सुलाना चाहिए। ईशान कोने में शीतल जल रखने से रोगी बहुत जल्दी स्वस्थ होता है।
  • घड़ी को बेड के आस-पास या तकिए के नीचे रखकर नहीं सोना चाहिए। इससे चिन्ता और तनाव बना रहता है।
  • हल्के रंग और पैटर्न की बेडशीट बिछाने से सुकून भरी नींद आती है।
  • बेड के बीचोंबीच कोई भी बिजली से चलने वाला उपकरण न रखें, पाचन-क्रिया में समस्याएं आती हैं।
  • सिर दक्षिण में और पैर पश्चिम दिशा में करके सोना चाहिए, अच्छी और गहरी नींद के साथ-साथ, आयु बढ़ती है।
  • शयनकक्ष में न तो मंदिर बनवाएं और न ही पूर्वजों के चित्र लगाएं, इससे अशुभता में बढ़ौत्तरी होती है।
  • पानी को सिरहाने रखकर न सोएं, तन, मन और धन पर बुरा प्रभाव पड़ता है।
  • किताबों को तकिए के नीचे रखकर सोते हैं तो कैरियर में कभी भी मनचाही सफलता प्राप्त नहीं कर पाएंगे।
  • मोबाइल फोन को सिर के पास रखकर सोने से व्यक्ति रोगों की गिरफ्त में आ जाता है।
  • पर्स को सिर के पास रखकर सोने से आमदनी अठन्नी और खर्चा रूपया होता है।
  • पलंग कभी दीवार से मिलाकर न रखें। इससे पति-पत्नी में तकरार होती है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here