हमारे पास फास्ट बोलरों का ड्रीम कॉम्बिनेशन: कोहली

0

भारतीय कप्तान विराट कोहली ने शनिवार को बांग्लादेश के खिलाफ तीन दिन के अंदर पारी के अंतर से टेस्ट मैच जीतने के बाद अपने फास्ट बोलरों की जमकर तारीफ की है। विराट कोहली ने कहा, ‘हमारे पास तेज गेंदबाजों का ‘ड्रीम कॉम्बिनेशन’ है, जो किसी भी पिच पर और किसी भी टीम की बल्लेबाजी को ध्वस्त कर सकते हैं।’

मैच में भारतीय तेज गेंदबाजों के दबदबे का अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि इशांत शर्मा, उमेश यादव और मोहम्मद शमी की तेज गेंदबाजी तिकड़ी ने बांग्लादेश के 14 विकेट चटकाए, जबकि स्पिनर रविचंद्रन अश्विन और रविन्द्र जड़जा ने मिलकर 5 विकेट निकाले। स्पिनर्स के खाते में गए इन 5 विकेट्स में जडेजा को कोई विकेट नहीं मिला और ये सभी विकेट अश्विन ने अपने नाम किए।

भारतीय तेज गेंदबाजों के बारे में कोहली ने कहा कि टीम अपने मुख्य तेज गेंदबाज जसप्रीत बुमराह के बिना भी शानदार प्रदर्शन कर रही है, जो इस समय चोटिल हैं। मैच के बाद पुरस्कार वितरण समारोह में कोहली ने कहा, ‘ये खिलाड़ी (तेज गेंदबाज) शानदार लय में है। जब वे गेंदबाजी करते हैं तो लगता है कि हर पिच अच्छी पिच है। जसप्रीत अभी टीम में नहीं है जब वह वापसी करेंगे तब विरोधी टीम को और मुश्किल होगी।’

उन्होंने कहा, ‘वे हर स्पेल में विकेट निकाल सकते हैं। स्लिप के क्षेत्ररक्षकों को हमेशा तैयार रहना होता हैं क्योंकि उन्हें पता है कि गेंद किसी भी ओवर में उनके पास आ सकती है। यह किसी भी कप्तान के लिए एक ड्रीम कॉम्बिनेशन है। किसी भी टीम के लिए मजबूत गेंदबाज होना सबसे महत्वपूर्ण है।’

मैच के बारे में पूछे जाने पर भारतीय कप्तान ने कहा, ‘पता नहीं क्या कहना चाहिए, यह एक और शानदार प्रदर्शन है। हमारे बल्लेबाज काफी पेशेवर हैं। हम पांच बल्लेबाजों के साथ उतरे, जिसमें से एक खिलाड़ी ने जिम्मेदारी के साथ बल्लेबाजी की। हम आगामी विदेशी दौरों पर ऐसा ही प्रदर्शन करना चाहते हैं।’

भारतीय टीम के मौजूदा प्रदर्शन की तुलना 2000 के शुरुआती दशक में ऑस्ट्रेलिया के प्रदर्शन से की जा रही है। कोहली ने कहा, ‘संख्या और रेकॉर्ड सिर्फ देखने के लिए होते हैं। वह किताबों में रहेगा, हम उस पर ध्यान नहीं दे रहे हैं। हम आगे आने वाले खिलाड़ियों को प्रेरित करते हुए मानकों को बनाए रखना चाहते हैं। इस प्रक्रिया में हम भारतीय क्रिकेट के मानक को ऊंचा उठा रहे हैं। हम एक टीम के रूप में संख्या के बारे में परवाह नहीं करते हैं।’

सलामी बल्लेबाज मयंक अग्रवाल की शानदार पारी के बारे में पूछे जाने पर कोहली ने कहा, ‘जब एक युवा टेस्ट में बल्लेबाजी के लिए आता है तो मुझे पता है कि बड़े शतकों को बनाने में कितना समय लगता है क्योंकि मुझे पता है कि मुझे शतक बनाने में कितना समय लगा था। इसलिए मुझे पता है कि बड़ा स्कोर बनाने का क्या महत्व है।’

भारतीय टीम सीरीज का दूसरा मुकाबला दिन रात्रि प्रारूप में खेलेगी। यह पहली बार है, जब टीम गुलाबी गेंद से खेलेगी और कोहली ने कहा टीम इसे लेकर काफी उत्सुक है। उन्होंने कहा, ‘गुलाबी गेंद से खेलना काफी रोचक होने वाला है। इसमें बल्लेबाजों को चुनौती मिलेगी। पुरानी गेंद ज्यादा स्विंग नहीं करती इसलिए गेंदबाजों के लिए भी यह मुश्किल स्थिति होगी। हम भारत में गुलाबी गेंद से खेलने वाली पहली टीम बनने पर काफी उत्साहित हैं।’