मैंने अपने देश की टीम और राज्य के लिए खेलने का सपना पूरा कर लिया है-नमन ओझा

0

भारतीय टीम के एक और खिलाड़ी ने क्रिकेट से संन्यास ले लिया है। भारतीय टीम के विकेटकीपर बल्लेबाज नमन ओझा ने सोमवार को क्रिकेट के सभी फॉर्मेट से संन्यास लेने की घोषणा कर दी है। नमन ओझा को भले ही इंटरनेशनल क्रिकेट में अधिक मौके ना मिलें हो लेकिन घरेलू क्रिकेट में उनके नाम कई रिकॉर्ड दर्ज हैं। रणजी ट्रॉफी में नमन विकेट के पीछे से सबसे अधिक शिकार करने वाले खिलाड़ी है।

नमन ओझा ने संन्यास के समय घोषणा करते हुए लिखा कि मैं संन्यास की घोषणा कर रहा हूं। अब यह मेरे लिए जीवन में आगे बढ़ने का समय है। यह काफी लंबा सफर रहा, मुझे जितने भी मौके मिले मैं उसके लिए आभारी हूं। मैंने अपने देश की टीम और राज्य के लिए खेलने का सपना पूरा कर लिया है।

संन्यास पर नमन ओझा ने अपनी फिटनेस पर जवाब देते हुए कहा कि मेरी फिटनेस ठीक है। मैं अभी भी प्रैक्टिस करता हूं। मुझे स्टेट टीमों की तरफ से ऑफर भी हुए हैं। लेकिन मैं अब अपने परिवार को समय देना चाहता हूं। मैं 14 साल का था जब इंदौर छोड़कर आया था। मुझे सिर्फ यही अफसोस है कि मुझे और मौके मिलते तो मैं अपने प्रदर्शन को बेहतर कर सकता। लेकिन मुझे खुशी है जो मैंने किया।

नमन ओझा ने भारतीय टीम के लिए अपने इंटरनेशनल क्रिकेट करियर की शुरूआत साल 2010 में श्रीलंका के खिलाफ की थी। लेकिन उसके बाद वह कभी भी भारतीय वनडे टीम में अपनी जगह नहीं बना पाए। साल 2010 में ही नमन ओझा ने भारत के लिए टी20 फॉर्मेट से भी डेब्यू किया। लेकिन उन्हें सिर्फ दो ही मैच खेलने को मिले और उसके बाद वह टीम में नहीं आ पाए। 2015 में एक बार फिर भारतीय टीम ने नमन की ओर देखा लेकिन इस बार उन्हें टेस्ट टीम में चुना गया। लेकिन इस फॉर्मेट में भी उन्हें कोई खास अवसर नहीं मिले।

नमन ओझा ने घरेलू क्रिकेट मे कई रिकॉर्ड अपने नाम किए हैं। नमन ओझा ने 146 रणजी मैच खेले हैं जिसमें उन्होंने 9753 रन बनाए हैं। इस दौरान उनका सर्वाधिक स्कोर 219 रहा। नमन ने अपनी विकेटकीपिंग से 571 शिकार किए हैं जिसमें उन्होंने 417 कैच और 54 स्टंपिंग की है। नमन ओझा आईपीएल में 113 मैच खेल चुके हैं जिसमें उन्होंने 1554 रन बनाए हैं और उनका सर्वश्रेष्ठ स्कोर 94 रहा है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here