होम क्वारेन्टाइन में 14 दिन रहना होगा विदेश से आने वाले हर व्यक्ति को

0

कोरोना वायरस के संक्रमण की रोकथाम के लिए भारत शासन के स्वास्थ्य विभाग द्वारा तय प्रोटोकॉल के मुताबिक विदेश से आने वाले हर व्यक्ति को 14 दिनों तक होम क्वारेन्टाइन में रहना होगा ।

जिले के मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. मनीष मिश्रा ने बताया कि होम क्वारेन्टाइन के दौरान ऐसे व्यक्तियों से स्वास्थ्य विभाग का अमला निरंतर संपर्क में रहेगा । इसके साथ ही कोई भी लक्षण दिखाई देने पर उन्हें भी तुरंत इसकी सूचना स्वास्थ्य विभाग को देनी होगी । मुख्य चिकित्सा अधिकारी के मुताबिक होम क्वारेन्टाइन में रहने वाले व्यक्ति में लक्षण दिखाई देने पर विशेषज्ञ चिकित्सकों की सलाह पर उनके थ्रोट स्वाब के सेम्पल लिया जायेगा और उसकी जाँच की जायेगी । यदि लैब से मिली रिपोर्ट में कोविड-19 पॉजिटिव पाया जाता है तो उसे आइसोलेट किया जायेगा ।

मुख्य चिकित्सा अधिकारी के मुताबिक रिपोर्ट में कोविड-19 पॉजिटिव मिले व्यक्ति के संपर्क में आने वाले व्यक्तियों को भी कम से कम 14 दिन के लिए घर में ही होम आइसोलेशन में रहना होगा । यदि ऐसे पॉजिटिव व्यक्ति के संपर्क में आने वाले व्यक्ति में भी सर्दी-खांसी, बुखार और सांस लेने में तकलीफ के लक्षण दिखाई देंगे तब उनके भी टेस्ट कराये जायेंगे ।

मुख्य चिकित्सा अधिकारी ने कहा है कि विदेश से आने वाले हर व्यक्ति की जाँच कराई जाये यह जरूरी नहीं है । उन्हें 14 दिन तक होम क्वारेन्टाइन में रहना ही पर्याप्त है । डॉ. मिश्रा ने नागरिकों से अनुरोध किया है कि विदेश से आने वाले हर व्यक्ति की जाँच के लिए विवश न किया जाये । ऐसे व्यक्तियों की भारत सरकार के स्वास्थ्य विभाग द्वारा जारी मार्गदर्शिका के अनुसार ही जाँच की जायेगी ।