संक्रमण से बचाव की बरतें सावधानियां – कलेक्टर

0

सम्पूर्ण देश में कोरोना वायरस प्रकोपगस्त रोगियों की संख्या में हो रही वृद्धि व प्रसार की सामने खड़ी तीसरी स्टेज के खतरे को दृष्टिगत रखते हुये प्रशासन द्वारा 23 व 24 मार्च को लॉकडाउन का निर्णय लिया गया है। इसमें अत्यावश्यक सेवाओं को छोड़कर समस्त शासकीय व अशासकीय व्यक्तियों से घर पर ही रहकर कार्य करने का अनुरोध किया गया था, परन्तु कटनी शहर में दिनभर लोगों को काफी संख्या में मार्ग व अन्य दुकानों पर देखा जा सकता है। एैसा करना जनमानस के स्वास्थ्य के लिये एक गंभीर विचारणीय प्रश्न है। शासन की यह मंशा है कि सभी जन यथासंभव घर पर रहें ताकि विस्तार की श्रंखला को अवरुद्ध किया जा सके। परन्तु इसे एक छुट्टी का अवसर मानकर यदि घूमने फिरने में समय व्यतीत किया जाता है, तो खतरा कई गुना बढ़ने की संभावना से इंकार नहीं किया जा सकता।

कलेक्टर शशिभूषण सिंह एवं स्वास्थ्य प्रशासन ने पुनः समस्त नागरिकजनों से अपील की है कि वह अति आवश्यक परिस्थिति को छोड़कर अपने घर पर ही रहें। संतुलित पौष्टिक भोजन करें व छत पर ही कुछ कसरत, व्यायाम करें, ताकि प्रतिरोधक क्षमता में संवर्धन हो। घर पर समय का उपयोग सभी दरवाजे, खिड़कियों, फर्नीचर, बिजली, स्विच बोर्ड व अन्य उपकरणों/वस्तुओं को कम से कम साबुन व पानी से क्लीनर घोल बनाकर आवश्यक सैनिटाईज और साफ करें ताकि अंजाने संक्रमण से बचाव हो।

यह भी ध्यान रखें कि यदि किसी के पास सैनीटाईजर नहीं है तो भी वह सामान्य सबुन व पानी से बार-बार हाथ धोकर अपने को सुरक्षित रख सकते हैं। बाहर भी निकलें तो सतह पर हाथ लगाने से बचें व हाथ मिलाने की जगह नमस्ते से अभिवादन करें। आपस में दूरी बनाये रखें।

जिला चिकित्सालय में काफी मात्रा में पुराने रोगी आ रहे हैं। एैसे मरीजों को इस संक्रमण के कारण अस्पताल नहीं आने के लिये कहा गया है। इन मरीजों को कभी भी नई बीमारी का संकट हो सकता है। आकस्मिक स्थिति में जिला चिकित्सालय में सेवायें 24 घंटे उपलब्ध हैं, पर उनका उपयोग सिर्फ गंभीरता की दशा में करने का आग्रह किया गया है।