जानें शादी से पहले दूल्हा और दुल्हन को क्यों लगाई जाती है हल्दी?

0
587

शादियों का मौसम शुरू हो गया है हल्दी लगाना, नजर उतारना सारी रस्में कई घरों में देखने को मिल जाएंगी। जिसमें मोहल्ले के सभी लोग मिलकर भागीदारी करते हैं।

ये सवाल आपके भी मन में आया होगा। लेकिन आपने इस पर ध्यान नहीं दिया होगा। लेकिन ये ध्यान देने वाली चीज है इसलिए ऐसे नजरअंदाज ना करें क्योंकि ये सबसे जरूरी रस्म है तभी शादी से पहले हर दुल्हा-दुल्हन को हल्दी लगाई जाती है।

हल्दी की रस्म
शादी से पहले हर दुल्हा-दुल्हन को हल्दी लगाई जाती है। भारतीय परंपरा के अनुसार है हल्दी लगाना बहुत शुभ माना जाता है औऱ अधिकांश लोग इसे परंपरा मानते हुए लगाते हैं और कोई लोग सोचते हैं कि इससे रुप निखरता है इसलिए इस परंपरा का निर्वाह करते हैं। जबकि ये रस्म केवल रुप ही नहीं निखारता बल्कि स्वास्थ्य भी बेहतर बनाता है।

ठीक करती है त्वचा संबंधी रोग
आयुर्वेद में हल्दी को औषधि का दर्जा दिया गया है। इस कारण हल्दी हमारी त्वचा के लिए एक तरह से प्राकृतिक का वरदान है। हल्दी के लगाने से त्वचा संबंधी अनेक बीमारियां ठीक हो जाती है। इस कारण शादी के वक्त हल्दी लगाई जाती है। क्योंकि शादी में कई सारे मेहमानों के आने से इंफेक्शन फैलने और हिंदु मान्यता के अनुसार नजर लगने स होने वाली त्वचा संबंधी समस्या होने का खतरा होता है। ऐसे में हल्दी त्वचा की खुश्की दूर करती है और त्वचा में चमक पैदा करती है।

शुभ होती है हल्दी
पीली हल्दी को भारतीय संस्कृति के अनुसार काफी विशेष माना गया है। इस कारण फेरे लेते वक्त पीले रंग के ही कपड़े पहने जाते हैं।

शादी की नरात्मकता को दूर करे
दरअसल विवाह के समय बहुत से मेहमान घर में आते हैं जिससे की कई बार घर में निगेटिव ऊर्जा भी फैल जाती है। जिसका सबसे ज्यादा दुष्प्रभाव दुल्हा-दुल्हन पर पड़ता है। ऐसे में शुभ की निशानी मानी जाने वाली हल्दी इस नकरात्मक ऊर्जा को कम करने में मदद करती है।

चोट ठीक हो जाए
साथ ही अगर विवाह के दौरान दुल्हा-दुल्हन को कोई चोट लगी हो या चोट के निशान हों तो उसके लिए भी हल्दी लगाई जाती है। हल्दी लगाने का मतलब होता है कि दुल्हा-दुल्हन के शरीर पर कोई चोट और जलने का निशान हो तो वह ठीक हो जाए।

अन्य लाभ –
हल्दी घर और दुल्हा-दुल्हन के आसपास भटकने वाली नकारात्मक ऊर्जा को भी नष्ट कर देती है।
हल्दी का इस्तेमाल हवन में भी किया जाता है जिससे की वातावरण के सारे कीटाणु मर जाए।