ट्रंप प्रशासन तालिबान से बातचीत करना चाहता है-अमेरिका

0

अमेरिका के एक शीर्ष राजनयिक ने कहा कि ट्रंप प्रशासन तालिबान से बातचीत करना चाहता है. उन्होंने कहा कि युद्धग्रस्त अफगानिस्तान में सैन्य संघर्ष के अंत के लिए तालिबान जितनी जल्दी संभव हो उतनी जल्दी वार्ता की मेज पर आए.

खबर के मुताबिक, राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने अगस्त में अपनी दक्षिण एशिया नीति तय करते हुए अमेरिकी बलों को अफगानिस्तान में बनाए रखने की घोषणा की थी. ताकि जल्दबाजी में सैनिकों को वापस बुलाने से पैदा होने वाली रिक्तता का फायदा अल कायदा और इस्लामिक स्टेट जैसे आतंकी समूह ना उठा पाएं.

सीधे बातचीत करने की जरुरत
दक्षिण और मध्य एशियाई मामलों के सहायक सचिव और अफगानिस्तान एवं पाकिस्तान के लिए कार्यवाहक विशेष प्रतिनिधि एलिस वेल्स ने इस हफ्ते अमेरिकी कांग्रेस की एक सुनवाई के दौरान कहा कि कई राजनयिकों के जरिए काफी करीब से काम किया जा रहा है. लेकिन पक्षों को सीधे एक दूसरे के साथ बात करने की जरूरत है. उसमें तालिबान के सोचने के तरीके में बदलाव शामिल है.

जल्द से जल्द बातचीत करें तालिबान
उन्होंने सांसदों से कहा कि वह नहीं बता सकते कि इसमें कितना समय लगेगा लेकिन, ‘हम चाहते हैं कि तालिबान जितना जल्दी संभव हो उतना जल्दी वार्ता की मेज पर आए.’