हर घर बिजली का सपना योजना के तहत PM मोदी आज लॉन्च करेंगे ‘सुभाग्य योजना’

0

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सोमवार को सुभाग्य योजना को लॉन्च करेंगे| इस योजना का मकसद हर घर बिजली पहुंचाना है| तीन साल पूरे कर चुकी मोदी सरकार के लिए यह योजना काफी अहम है| सोमवार को ही पंडित दीनदयाल उपाध्याय की जयंती है. सूत्रों की मानें, तो केंद्र सरकार इस योजना पर 17,000 करोड़ रुपए खर्च कर सकती है|केंद्रीय ऊर्जा सचिव ए.के. भल्ला के मुताबिक पीएम मोदी ने 2015 में 1000 दिनों में 18,000 गांवों में बिजली पहुंचाने का लक्ष्य रखा था। बीते स्वतंत्रता दिवस तक 10,000 गांवों को बिजली का कनेक्शन मिल चुका है।

2017-18 की पहली तिमाही में अर्थव्यवस्था की दर पिछले 3 वर्षों में सबसे कम 5.7 प्रतिशत दिखाई दी। मोदी रोजगार सृजन और मांग को प्रोत्साहित करने के मकसद से विद्युत, आवास और समाज कल्याण कार्यक्रमों के लिए आर्थिक पैकेज की घोषणा कर सकते हैं जो 40 हजार से लेकर 50 हजार करोड़ के बीच हो सकता है। 2019 तक हर घर में बिजली उपलब्ध करवाने के लिए सरकार 24 घंटे और सातों दिन काम कर रही है। प्रधानमंत्री गरीबों के कल्याण के लिए सरकार द्वारा शुरू किए गए कार्यों का एक रिपोर्ट कार्ड राष्ट्र के समक्ष पेश करने जा रहे हैं। जनसंघ के विचारक के नाम पर शुरू की गई महत्वाकांक्षी योजनाओं में से एक दीनदयाल उपाध्याय ग्राम ज्योति योजना या देहाती विद्युतीकरण योजना है। स्कीम के तहत अधिकांश लक्ष्यों को पूरा कर लिया गया है। सरकार वित्त वर्ष 2018 के लिए कुल घरेलू उत्पाद (जी.डी.पी.) के लक्षित 3.2 प्रतिशत घाटे का दायरा बढ़ाने में भी कोई संकोच नहीं करेगी।

खेलो इंडिया की शुरुआत
केंद्र सरकार ने खेल को लेकर भी बड़ी योजना का ऐलान किया था। केंद्रीय कैबिनेट ने खेलो इंडिया को मंजूरी दी थी। खेलो इंडिया की शुरुआत 2016 में हुई थी उस दौरान इसका बजट 500 करोड़ था जिसे बढ़ाकर 1756 करोड़ किया गया है, यह बजट 2017-18 से 18-19 तक का है। यह योजना खेल, खिलाड़ियों को प्रोत्साहित करने के लिए बनाई गई थी।