जानिए कैसे,एक चुटकी नमक से बदल सकते हैं रूठी किस्मत को

0
870

आप जानते हैं जिस नमक से खाने में स्वाद आता है. उसी नमक से रूठी हुई किस्मत को मनाया भी जा सकता है. जी हाँ! वास्तुशास्त्र में नमक को बहुत महत्वपूर्ण माना जाता है. नमक के अलग-अलग इस्तेमाल से घर से नकारात्मक ऊर्जा निकल जाती है और सकारात्मक ऊर्जा का संचार होता है. मानसिक शांति, सेहत, सुख-समृद्धि और पैसे के मामले में नमक की भूमिका अहम है.

अगर घर के सदस्यों में नहीं बनती और आप आये दिन बीमार भी रहते हैं. तो उसके लिए आपक नमक वाले पानी से पोंछा लगायें. एक बाल्टी पानी में बस एक चुटकी काला नमक मिलाएं, फिर देखें इसका कमाल. कुछ दिनों में इसका असर देखने को मिल जाएगा.

इसके अलावा आपको यह भी देखन है कि नमक किस बर्तन में रखा गया है. स्टील यानी लोहे से बने बर्तन में नमक कभी नहीं रखना चाहिए. वास्तु में ऐसी मान्यता है कि नमक को हमेशा कांच के जार में भरकर रखना चाहिए. साथ ही इसमें एक लौंग डाल दें, तो फिर सोने पे सुहागा. इससे घर में सुख-समृद्धि तो रहती ही है साथ ही में धन सम्बन्धी परेशानी में दूर ही रहती है.

नमक मानसिक शांति के लिए भी अत्यंत आवश्यक है. यदि आपका मन हर समय बेचैन रहता है तो ऐसी समस्या से निजात पाने के लिए नमक का उपाय रामबाण का काम करता है. इस उपाय में भी एक चुटकी नमक कमाल करता है. जी हां, नहाते समय समय पानी में एक चुटकी नमक मिला लें और उससे स्नान करें. वास्तु विशेषज्ञों की मानें, तो ऐसा करने से मानसिक बेचैनी कम हो जाती है. तन-मन हमेशा तरोताजा रहता है.

इसके अलावा लम्बी अवधि वाली बिमारी में भी अत्यंत लाभकारी है नमक. यदि घर में कोई लंबे समय से बीमार चल रहा हो, तो उसके बिस्तर के पास कांच की बोतल में नमक भरकर रखें और हर महीने इसे बदल दें. वास्तु के मुताबिक, ऐसा करने से बीमार व्यक्ति की सेहत में काफी सुधार आ सकता है. ध्यान रहे जब तक वह व्यक्ति पूरी तरह से स्वस्थ ने हो जाए तब यह उपाय करते रहें.

वास्तुदोष होने से घर में नकारात्मकता प्रवेश होता है और व्यक्ति परेशान रहता है. इससे छुटकारा पाने के लिए या वास्तुदोष खत्म करने के लिए इसमें एक नमक का उपाय बहुत कारगर साबित हो सकता है. बाजार में पहाड़ी नमक भी मिलता है. इसे लाकर अपने घर के एक कोने में रख दें. कुछ ही में महसूस करेंगे कि घर की सारी नकारात्मकत एनर्जी दूर हो जाएगी. घर में सुख-शांति फैल जाएगी.

नमक को कभी बेकार भी मत होने दें. वास्तु के अनुसार, यदि नमक जमीन पर सीधे गिरता है, तो यह मानलें कि आप सीधे अपने दुर्भाग्य को दावत दे रहे हैं.