तिलक लगाने और पैर छूके प्रणाम करने के है ये जबरदस्त फायदे

0
34

पुराने समय से ही परंपरा चली आ रही है कि जब भी हम किसी विद्वान व्यक्ति या उम्र में बड़े व्यक्ति से मिलते हैं तो उनके पैर छूते हैं। इस परंपरा को मान-सम्मान की दृष्टि से देखा जाता है। इस परंपरा का पालन आज भी काफी लोग करते हैं। चरण स्पर्श करने से धार्मिक और वैज्ञानिक दोनों तरह के लाभ प्राप्त होते हैं। ये बात तो सभी जानते हैं कि बड़ों के पैर छूना चाहिए। भारत में बहुत पुरानी परंपरा है अपने से बड़ों का अभिवादन करने के लिए चरण छूने की। भारतीय लोगो में उर्म में अपने से बड़े के चरण स्पर्श करना अच्छा और शुभ समझते हैं। वहीं दूसरी और कुमकुम या चन्दन का टिका भी लगाया जाता है।

चरण छूने से क्या क्या फायदें होते हैं।

1. चरण छूने का मतलब है पूरी श्रद्धा के साथ किसी के आगे झुकना।
2. जब हम किसी व्यक्ति से अभिवादन करते हैं, तो आशीर्वाद के मन से उनका हाथ हमारे सर के उपरी भाग को और हमारा हाथ उनके पैर को छूता है।
3. शास्त्रों में कहा गया है कि हर रोज बड़ों के आशीर्वाद मिलने पर आयु, बुद्धि, और शारीरिक ताकत में वृद्धि होती है।
4. पैर छूना भारत की संस्कृति में अच्छे व्यक्तित्व से जुडी एक जून के रूप में जानी जाती है।
5. माना जाता है कि पैरों के अंगूठे से भी शक्ति का प्रदान होना होता है। इंसान के पैर के अंगूठे में भी ऊर्जा उत्पन होने लगती है।

6. मान्यता है कि बड़े-बुजुर्गों के चरण स्पर्श नियमित तौर पर करने से कईं प्रतिकूल ग्रह भी अनुकूल हो जाते हैं।
8. इसका मनोवैज्ञानिक पक्ष यह है कि जिन लक्ष्यों की प्राप्त‍ि को मन में रखकर बड़ों से आशीर्वाद लिया जाता है, उस लक्ष्य को हांसिल करने में ताकत मिलती हैं।

 तिलक लगाने के फायदे
1. तिलक लगाने का मनोवैज्ञानिक असर होता है, वो इस लिए क्योंकी तिलक करने से किसी इंसान के व्यक्त‍ित्व में भरोसा और जोश उत्पन हो जाता है।
2. दिमाग में सेराटोनिन और बीटा एंडोर्फिन का स्राव संतुलित तरीके से होता है।

3. इससे सिरदर्द की समस्या में कमी आती है।
4. हल्दी का तिलक लगाने से त्वचा साफ़ होती है। हल्दी में जो तत्व होते हैं, वो रोगों से मुक्त करते है।
5. धार्मिक मान्यता के अनुसार, चंदन का तिलक लगाने से मनुष्य के पापों का नाश होता हैं।

6. माना जाता है कि चंदन का तिलक लगाने वाले का घर अन्न-धन से भरा रहता है और सौभाग्य में बढ़ोतरी होती है।