ससुरालवालों के साथ रिलेशनशिप बनाने के लिए अपनाएं यह टिप्स

0

कई लड़कियों को शादी के बाद ससुरालवालों से तनाव भरे रिश्ते की शिकायत होती है। लेकिन अब समय बदल गया है, समय के बदलने के साथ ही ससुरालवालों ने अपनी सोच भी बदल ली है, लेकिन उसके बावजूद भी कभी कभार छोटी-मोटी नौकझोंक होने लगती है। लेकिन इन रिश्तों को सुलझाने की कोशिश कोई नहीं करता है।

अगर आप भी अपने और अपने ससुरालवालों के बीच के रिश्ते को सही करना चाहती हैं तो ऐसे में आपको कुछ टिप्स का पालन करना होगा, इन टिप्स का पालन करने से आप आसानी से अपने ससुरालवालों का दिल जीत सकती हैं और उनके साथ अपने रिश्ते को स्वस्थ बना सकती हैं।

1 आपके ससुरालवाले जैसे हैं उन्हें वैसे ही अपनाएं
हमारी जिंदगी में सुख और दुख तो बने ही रहते हैं। आप इस बात को जान लें कि आपको शादी के बाद में हाथ में खाना कोई नहीं देने वाला है। आपको यह सीख लेना चाहिए कि जिंदगी में किस तरह से सारी चीजों को साथ लेकर चलना होता है। आप उन्हें बदल तो नहीं सकती हैं, लेकिन आप उन्हें उस तरह अपना सकती हैं, जैसे वह हैं। जिस तरह से आप अपनी मां की कुछ आदतों को नहीं बदल पाई , उसी तरह से आप अपनी सांस की भी कुछ आदतों को नहीं बदल सकती हैं।

2 परिवार में सभी से मिलजुल कर रहें
परिवार में रहकर आप अपने परिवारवालों से दूरी बनाने के बारे में ना सोचें। भले ही आपके ससुराल में आपको अपने घर जैसी आजादी ना मिलें, लेकिन आप उनके साथ अच्छी तरह से घुल मिलकर रह सकती हैं। आप अपने ससुरालवालों के साथ मिलकर रहती हैं तो ऐसे में वह भी खुश होंगे और इस बात को भी जान लें कि आप अब उस परिवार का ही एक हिस्सा हैं।

3 उनकी भावनाओं को ठेस ना पहुंचाएं
कभी-कभार हम अनजाने में अपने माता-पिता और ससुरालवालों की भावनाओं को ठेस पहुंचा देते हैं। आपको यह बात पता होनी चाहिए कि जिस तरह आपके माता-पिता बुढ़े हो रहे हैं, ठीक उसी तरह आपके सास-ससुर भी बूढ़े हो रहे हैं। ऐसे में आपको अपने माता-पिता की तरह ससुरालवालों की भावनाओं का भी ख्याल रखना चाहिए। उन्हें किसी भी कीमत पर बेसहारा महसूस ना होने दें।

4 उनका सम्मान करें
आप अपने ससुरालवालों के विचारों का सम्मान करें। हम जानते हैं कि अपने घर से ससुराल आने पर आपको काफी अंतर दिखाई देगा। लेकिन इसके बाद भी आप उनका सम्मान करना कभी ना भूलें।

5 जितना हो स्थितियों से समझौता करने की कोशिश करें
एक रिश्ता बिना समझौते के नहीं बन पाता है। हो सकता है कि कभी आप उनकी बातों से सहमत ना हो, लेकिन कभी कभार समझौता करने से उन्हें खुशी मिलती है, जो कि काफी उपयोगी होता है। आप चाहें तो प्यार से उन्हें अपनी बात समझा सकती हैं।

6 अपने पति को अपने और ससुरालवालों के बीच रेफ्री ना बनने दें
अपने पति को परिवारवालों और अपने बीच में ना लाएं। इस बात को हर कोई जानता है कि पत्नी और परिवारवालों के बीच अगर कोई बुरा साबित होता है तो वह केवल आदमी ही होता है। अगर आप के बीच भी किसी तरह की लड़ाई हो रहीं हो तो ऐसे में आप कोशिश करें कि आप उन्हें खुद ही सुलझा लें, इस दौरान परिवार के किसी तीसरे सदस्य को अपनी लड़ाई में ना आने दें।