खुले में शौच मुक्त करने का विस्तृत प्लान तैयार कर कार्यवाही सुनिश्चित करवाई जाये- कलेक्टर

0

बड़वानी- (ईपत्रकार.कॉम) |जिले के सातो नगर स्मार्ट नगर बने, इसके लिए इन नगरो के सीएमओ एक पखवाड़ा में अपने-अपने क्षेत्र का विस्तृत प्लान तैयार करेंगे। इस प्लान में वित्तीय साधनों को किस प्रकार ओर पुख्ता किया जाये, कचरे का किस प्रकार प्रबंधन हो, नगर का विकास और सौन्दर्यीकरण किस प्रकार हो, इसका समावेश होगा।

कलेक्टर श्री तेजस्वी एस नायक ने शुक्रवार को कलेक्ट्रेट सभागृह में आयोजित बैठक में उक्त निर्देश जिले की दो नगर पालिका एवं 5 नगर परिषद के सीएमओ को दिये। इस बैठक में एसडीएम सेंधवा एवं प्रशासक नगर पालिका सेंधवा श्री शिवम वर्मा, डूडा के प्रभारी एवं डिप्टी कलेक्टर श्री सत्येन्द्रसिंह सहित समस्त नगरीय निकायो के सीएमओ उपस्थित थे।

बैठक में कलेक्टर द्वारा दिये गये निर्देश
  • सभी नगर निकायो में कचरा प्रबंधन, खुले में शौच मुक्त करने का विस्तृत प्लान तैयार कर कार्यवाही सुनिश्चित करवाई जाये।
  • नगरीय क्षेत्र को प्लास्टिक मुक्त करने के लिए दुकानदारो के यहां महिला स्व-सहायता समूह द्वारा तैयार कपड़े व कागज के झोले विक्रय हेतु रखवाये जाये।
  • नगरीय क्षेत्रो में गठित महिला स्व-सहायता समूह, बच्चो के संगठनो एवं विभिन्न सामाजिक संगठनो को नगर विकास के क्षेत्र में भी सक्रिय कर उनका सहयोग प्राप्त किया जाये।
  • नगरीय क्षेत्रो में व्यवसाय करने वाले दुकानदारो, ठेले वालो को उनके प्रतिष्ठान के आस-पास सफाई रखने हेतु उत्तरदायी बनाया जाये।
  • नगरीय क्षेत्रो के घरो, दुकानो, बड़े प्रतिष्ठानो से निकलने वाले कचरा का आंकलन किया जायें। इसमें कितना बायोवेस्ट निकलता है, इसका आंकलन कर बायोगैस प्लांट लगाया जाये।
  • यदि सुअर पालन है तो उन्हे नगर के बाहर बाड़ा बनाने का स्थान दिया जाये। जिससे किसी भी दशा में सुअर नगरीय क्षेत्रो में विचरण न करने पाये।
  • नगरीय क्षेत्र में लगने वाले होर्डिंग हेतु स्थान निर्धारित कर किराये पर दिया जाये। जिससे नगर निकायो की आय बढ़ सके।
  • नगर के सौन्दर्यीकरण हेतु विस्तृत प्लान बनाया जाये। जिसमें पार्क सहित मूत्रालय, शौचालय की भी व्यवस्था सुनिश्चित की जाये।
  • किसी भी स्थिति में प्लास्टिक की पन्नियो, कपो का उपयोग न हो यह सुनिश्चित किया जाये।
  • आवासी मकानो पर यदि विज्ञान के बोर्ड लगे है तो उनसे कमर्शियल रेट पर सम्पत्ति कर वसूला जाये।
  • सम्पत्ति कर, जल कर आदि की वसूली शत-प्रतिशत हो, यह सुनिश्चित किया जाये।
  • नगर निकाय की सम्पत्ति को किराये पर लेने वाले निर्धारित किराया अदा कर रहे है यह सुनिश्चित किया जाये।
  • जनभागीदारी मद से नगरी निकाय क्षेत्रो में कौन-कौन से कार्य करवाये जा सकते है। उनका प्रस्ताव व प्राकलन बनाये जाये।
  • सभी नगरीय निकायो के पास चलित शौचालय यूनिट, अग्नि शमन वाहन हो यह सुनिश्चित किया जाये।
  • नगरीय क्षेत्रो में उपयुक्त मार्गो चौराहे पर शोभायमान गमले रखे हो, जगह-जगह फुटपाथ के किनारे बेंच लगी हो, इसका भी प्लान बनाया जाये।
  • नगर की दीवारो, पेड़ो को पोस्टर, फ्लेक्स से गंदी करने वालो पर कठोर कार्रवाई की जाये।
  • डूडा के प्रभारी अधिकारी सप्ताह में दो दिन बुधवार एवं गुरूवार को नगरीय क्षेत्रो का भ्रमण कर समुचित जानकारी प्रति शुक्रवार होने वाली बैठक में प्रस्तुत करेंगे। जबकि शेष सीएमओ इस बैठक में वीसी के माध्यम से भाग लेंगे।